Move to Jagran APP

'महाराज, शिवराज और नाराज', सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर क्या बोले गए दिग्विजय सिंह? MP में तीन BJP का बताया मतलब

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश का चुनाव उन लोगों के बीच है जिन्होंने कांग्रेस को धोखा दिया था। यह चुनाव धनबल और जनबल के बीच और एक गद्दार और एक ईमानदार आदमी के बीच है। साल 2018 में मुझे और पूर्व सीएम कमलनाथ को संगठन तैयार करने के लिए सिर्फ पांच महीनों का वक्त मिला लेकिन अब संगठन तैयार है।

By AgencyEdited By: Piyush KumarWed, 08 Nov 2023 01:15 PM (IST)
'महाराज, शिवराज और नाराज', सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर क्या बोले गए दिग्विजय सिंह? MP में तीन BJP का बताया मतलब
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एमपी चुनाव के मद्देनजर भाजपा पर निशाना साधा है।(फोटो सोर्स: जागरण)

एएनआई, ग्वालियर। MP Election 2023। मध्य प्रदेश में  17 नवंबर को मतदान होना है। चुनाव से ठीक पहले राजनीतिक दलों ने राज्य में चुनावी रैलियों और प्रचार-प्रसार में पूरी ताकत झोंक दी है। इस समय राज्य में राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है। इसी बीच बुधवार को एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए चुटकी ली है।

उन्होंने कहा,"राज्य में बीजेपी तीन गुटों में बंट गई है, जिसमें महाराज बीजेपी (ज्योतिरादित्य सिंधिया), शिवराज बीजेपी (सीएम शिवराज सिंह चौहान) और नाराज बीजेपी (बागी) शामिल हैं।"  

बुधवार को मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक कांग्रेस उम्मीदवार के कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते दिग्विजय सिंह ने ये टिप्पणी की है।

दिग्विजय सिंह बोले-  यह चुनाव धनबल और जनबल के बीच

दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह चुनाव उन लोगों के बीच है जिन्होंने कांग्रेस को धोखा दिया था। यह चुनाव धनबल और जनबल के बीच और एक गद्दार और एक ईमानदार आदमी के बीच है। साल 2018 में मुझे और पूर्व सीएम कमलनाथ को संगठन तैयार करने के लिए सिर्फ पांच महीनों का वक्त मिला, लेकिन अब संगठन तैयार है।

उन्होंने आगे कहा," पहले एक बीजेपी थी लेकिन अब बीजेपी तीन समूहों में विभाजित हो गई है, महाराज बीजेपी  (केंद्रीय मंत्री सिंधिया), शिवराज बीजेपी (सीएम चौहान) और नाराज बीजेपी (विद्रोही पार्टी कार्यकर्ता)।

सीएम चौहान के खिलाफ बहुत नाराजगी है: दिग्विजय सिंह

उन्होंने एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा,"आज सीएम के खिलाफ बहुत आक्रोश है। उन्होंने कहा, "सीएम चौहान के खिलाफ बहुत नाराजगी है। 2018 में उससे भी ज्यादा नाराजगी थी। बीजेपी भी आज बंटी हुई है। मजदूरों को जितना नुकसान भारतीय जनता पार्टी ने पहुंचाया, उतना कोई और संगठन नहीं पहुंचा सकता।"

'घर में बैठने वाले नेताओं के लिए दिग्विजय सिंह के दरवाजे हमेशा बंद रहेंगे'

इसके अलावा पूर्व सीएम सिंह ने उन कांग्रेसियों को भी चेतावनी दी जो आगामी राज्य विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मांग रहे थे लेकिन वे घर में बैठे थे। उन्होंने कहा कि ऐसे नेताओं के लिए दिग्विजय सिंह के दरवाजे हमेशा बंद रहेंगे।

दिग्विजय सिंह ने ईवीएम पर उठाए सवाल

इस दौरान कांग्रेस नेता ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर भी सवाल उठाए और कहा, ''वे (बीजेपी) बैलेट पेपर में गड़बड़ी करते थे, यह हम समझ गए हैं लेकिन अब वे ईवीएम में भी गड़बड़ी कर सकते हैं।'ईवीएम कांग्रेस के वोट कम नहीं कर सकती लेकिन बीजेपी के वोट बढ़ा सकती है।"

किसी भी देश में ईवीएम के माध्यम से चुनाव नहीं होते: दिग्विजय सिंह

उन्होंने आगे कहा,"कोई भी मशीन जिसमें चिप लगाई गई है, वह मशीन चलाने वाले का आदेश नहीं मानेगी, वह उसका आदेश मानेगी जिसका सॉफ्टवेयर उसमें डाला गया है। इसकी जानकारी सिर्फ चुनाव आयोग को है। किसी भी देश में ईवीएम के माध्यम से चुनाव नहीं होते हैं और यहां तक कि पाकिस्तान और बांग्लादेश ने भी इसे खत्म कर दिया है। अब चुनाव के दिन इसकी जांच करने का एक ही तरीका है।"

मध्य प्रदेश में वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी। मतदाता 230 विधानसभा क्षेत्रों से विधायक चुनेंगे।

यह भी पढ़ें: MP Election 2023: मध्य प्रदेश में सिरदर्द बने निर्दलीय उम्मीदवार, एक दर्जन सीटों पर बिगाड़ रहे कांग्रेस-भाजपा का समीकरण