भोपाल। वक्त है बदलाव का.....माफ करो महाराज, हमारा नेता शिवराज। इस बार का विधानसभा चुनाव कई मायनों में खास रहा। दोनों ही पार्टियों के बड़े चेहरों ने देश के दिल को जीतने की पूरी कोशिश की। भाजपा के लिए जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और सीएम शिवराज सिंह ने मोर्चा संभाला तो वहीं कांग्रेस के प्रचार की कमान राहुल गांधी, पीसीसी चीफ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के हाथों में रही। 

इस दौरान लोगों को कई जुमले सुनने को मिले। कहीं नामदार-कामदार का जिक्र आया, तो कहीं चालीस दिन, चालीस सवाल के जरिए विरोधी को घेरने की कोशिश की गई। अब भले ही पार्टियों को इसमें कामयाबी मिली हो य न हो, लेकिन जनता के लिए चुनाव बड़ा दिलचस्प रहा। 

शुरुआत प्रदेश के सपनों को लूटने की बात से हुई। कांग्रेस ने इसे अपना सबसे बड़ा हथियार बनाया। जुमला भी कुछ इसी तरह गढ़ा गया।

Posted By: Saurabh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस