उत्तरकाशी, जेएनएन। टिहरी संसदीय सीट पर कांग्रेस ने प्रदेश कांग्रेस के कद्दावर नेता प्रीतम सिंह को प्रत्याशी बनाकर भरोसा जताया है। प्रीतम सिंह इस सीट पर टिकट के प्रमुख दावेदार थे तथा कांग्रेस के कैडर ने भी प्रीतम सिंह को प्रत्याशी बनाने की वकालत की थी। लंबे समय तक राजनीतिक अनुभव के साथ ही जौनसार बावर व जौनपुर रवाईं में अच्छी पैठ भी प्रीतम को टिकट दिलाने के लिए मुफीद बनी।

टिहरी संसदीय सीट के कांग्रेस प्रत्याशी प्रीतम सिंह वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी है। प्रीतम सिंह को राजनीति सत्ता विरासत में मिली है। प्रीतम सिंह 1988 में चकराता ब्लाक के ब्लाक प्रमुख बने। जिसके बाद 1993 में उत्तर प्रदेश में चकराता विधानसभा से विधायक चुने गए, जबकि चार बार उत्तराखंड विधानसभा के सदस्य चुने गए हैं। वर्तमान में प्रीतम सिंह चकराता विधानसभा से विधायक हैं। विधानसभा चुनाव-2017 में प्रीतम सिंह ने भाजपा प्रत्याशी मधु चौहान को 1544 मतों से हराया था।

प्रीतम सिंह का जन्म देहरादून जिले के बृनाड़ गांव में हुआ था। प्रीतम सिंह के पिता गुलाब सिंह के कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे हैं। वह उत्तर प्रदेश विधानसभा के आठ बार सदस्य एवं मंत्री भी रहे हैं। इसी कारण प्रीतम सिंह को राजनीतिक सत्ता भी विरासत में मिली है। प्रीतम सिंह को टिकट दिए जाने का मुख्य कारण ये है कांग्रेस के अन्य दावेदारों की तुलना वे मजबूत दावेदार रहे। प्रदेश अध्यक्ष होने के साथ प्रीतम सिंह की राष्ट्रीय संगठन में भी अच्छी पकड़ रही है। इसके साथ ही हाल में हुए निकाय चुनाव में टिहरी लोकसभा क्षेत्र की नगर पालिका व नगर पंचायत में कांग्रेस का प्रदर्शन भाजपा की तुलना में संतोषजन रहा है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में भाजपा प्रत्याशियों के टिकट फाइनल, केंद्रीय नेतृत्व ने किया इन नामों का एलान

यह भी पढ़ें: संघ और हाइकमान में मजबूत पकड़ के कारण मिला प्रदेश अध्‍यक्ष अजय भट्ट को टिकट

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप