रांची, जेएनएन। Jharkhand Election 2019 आखिरकार वही हुआ जिसका अंदेशा सबको पहले से था।भारतीय जनता पार्टी के दिग्‍गज नेता सरयू राय ने पार्टी से बगावत कर दी है। उन्‍होंने रविवार को जमशेदपुर में मुख्‍यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान किया। इस बीच सीएम रघुवर दास ने भी जमशेदपुर में कैंप कर दिया है। वे सोमवार को नामांकन की आखिरी तारीख को जमशेदपुर पूर्वी सीट से नामजदगी का पर्चा दाखिल करेंगे। इससे पहले लगातार बदलते घटनाक्रम में सरयू राय ने भाजपा का टिकट लेने से भी मना कर दिया था। इधर सरयू के रुख और सीएम की सीट पर दावेदारी से भाजपा में हड़कंप मचा है। राय के कदम से सकते में दिख रहे भाजपा नेताओं ने चुप्‍पी साध ली है।

इधर कांग्रेस ने भी बीती रात एकाएक जमशेदपुर पूर्वी सीट से प्रो गौरव बल्‍लभ को उतारकर माहौल को और गरमा दिया है। महागठबंधन में कांग्रेस के रुख से झामुमो के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन सकते में हैं। उन्‍होंने तमाम विपक्षी दलों से सरयू राय का समर्थन करने की अपील की है।

सरयू राय ने ये कहा

जमशेदपुर में सरयू राय ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी परंपरा यही है क हम सब मिलकर फैसला लेते आए हैं। विधानसभा चुनाव की इस घड़ी में बताना चाहता हूं कि जमशेदपुर पश्चिमी सीट का विधायक होने के नाते पूरी निष्‍ठा से काम किया है। पिछड़े इलाके का पूरा विकास का बीड़ा उठाया है। सबके सुख-दुख में हम साथ रहे हैं।

सरयू ने कहा कि उन्‍होंने पार्टी से आजतक कुछ नहीं मांगा। उनका टिकट होल्‍ड पर रखे जाने से बहुत बुरा लगा। उन्‍होंने कहा कि वे सरकार में पांच साल कैबिनेट मंत्री रहे। जहां गलत हुआ, उन्‍होंने खुलकर इसका विरोध किया। समर्थकों की नारेबाजी के बीच कहा कि गलत करने वाला वहीं जाएगा, जहां मधु कोड़ा गए थे। प्रधानमंत्री के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस का जिक्र करते हुए कहा कि यही बात वे करते हैं, तो लोगों को बुरा लगता है।

सरयू राय के पक्ष में झामुमो, बताया भ्रष्टाचार से लड़ने वाला

भाजपा नेता सरयू राय भले ही अपने दल के खिलाफ खड़े हो गए हैैं, लेकिन तमाम विपक्षी पार्टियां उन्हें लपकने को आतुर है। झामुमो ने भी उनके सम्मान के बारे में चिंता करते हुए कहा कि सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले को इस तरह से टिकट से वंचित करना चिंताजनक है। झामुमो के महासचिव सुप्रियो भट्टïाचार्य ने यहां तक कह दिया कि भ्रष्टाचार के संरक्षक मुख्यमंत्री रघुवर दास के भ्रष्टाचार को सरयू राय हमेशा उठाते रहे हैैं। इसकी को आधार मानकर उन्हें टिकट नहीं दिया जा रहा है। हालांकि, उन्होंने कहा कि टिकट देना या नहीं देना भाजपा का अंदरूनी मामला है। सुप्रियो भट्टïाचार्य शनिवार को प्रेसवार्ता में मीडिया को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने सरयू राय को नसीहत देते हुए कहा कि अब उनको भाजपा के मोह जाल में नहीं फंसना चाहिए। भाजपा की ऐसी परंपरा रही है कि अच्छे लोगों को दरकिनार कर दिया जाता है। जबकि, भ्रष्टाचारी, हत्यारा सहित अन्य मामलों में आरोपितों को भाजपा टिकट देती है। एक विधायक का आपत्तिजनक वीडियो भी सामने आया, लेकिन उन्हें टिकट मिल गया और सरयू राय जैसे नेता को इससे वंचित किया गया है।

सरयू राय को साथ जोडऩे के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीति परिस्थितियों का पर्याय होती है। वक्त का इंतजार करना चाहिए। भाजपा सरकार के अत्याचार के खिलाफ अगर कोई लड़ता है, तो पार्टी उसके साथ रहेगी या समर्थन करेगी। जमशेदपुर पूर्वी और पश्चिमी सीट गठबंधन के चलते कांग्रेस के पास है। ऐसे में इस पर निर्णय कांग्रेस को ही लेना है। अगर परिस्थितियां बनती हैैं, तो कांग्रेस और जेएमएम के शीर्ष नेता इस पर निर्णय जरूर लेंगे।

जमशेदपुर में पकड़े गए रुपये का होना था चुनाव में इस्तेमाल

जमशेदपुर में एक जेई के यहां से मिली भारी नकदी का मामला अब राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। झामुमो ने इस प्रकरण में सीएम रघुवर दास पर भी निशाना साधा है। महासचिव सुप्रियो भट्टïाचार्य ने दावा किया कि जेई के पास से मिले तीन करोड़ रुपये का इस्तेमाल विधानसभा चुनाव में किया जाना था। इसे एक पदाधिकारी ने पहुंचाया था।

यह खबर लगातार अपडेट हो रही है। ताजा जानकारी के लिए बने रहें हमारे साथ...

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप