रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 झामुमो नेता कुशवाहा डॉ. शशिभूषण मेहता की भाजपा में ज्वाइनिंग ने पार्टी की खासी किरकिरी कराई। गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय के पास मेहता को पार्टी में शामिल कराए जाने के लिए आयोजित समारोह में काफी देर तक हंगामा, मारपीट और हाईवोल्टेज ड्रामा का दौर चलता रहा। इस बीच शशिभूषण मेहता के समर्थकों ने विरोध कर रहे स्व. सुचित्रा मिश्रा के दोनों बेटों की पिटाई कर दी। हालांकि पर्याप्त हंगामे के बाद भी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की उपस्थिति में शशि भूषण मेहता को भाजपा में शामिल किया गया और औपचारिक भाषणबाजी भी हुई।

प्रदेश भाजपा के इतिहास में यह पहला मौका था जब किसी नेता के शामिल होने पर इतना हंगामा हुआ हो। बात धक्का-मुक्की से होती हुई मारपीट तक भी पहुंची। ज्ञात हो कि शशि भूषण मेहता राजधानी स्थित ऑक्सफोर्ड स्कूल के संचालक भी हैं और उनपर अपनी ही स्कूल की वार्डन रही स्व. सुचित्रा मिश्रा की हत्या का आरोप रहा है। सुचित्रा मिश्रा के परिजन शशिभूषण को हत्यारोपी बताते हुए उन्हें पार्टी में नहीं शामिल करने की गुहार भाजपा के पदाधिकारियों से लगा रहे थे।

शशिभूषण से पहले ही पहुंच गए मिश्रा परिवार के लोग

बताया जाता है कि गुरुवार को तयशुदा कार्यक्रम के तहत झामुमो नेता डॉ. शशि भूषण मेहता अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ भाजपा कार्यालय पहुंचे। उनकी ज्वाइनिंग के लिए प्रदेश कार्यालय के पीछे विशेष मंच की व्यवस्था की गई थी। उधर शशि भूषण मेहता के पहुंचने से पूर्व ही स्व. सुचित्रा मिश्रा के दोनों बेटे अभिषेक मिश्रा और आशुतोष मिश्रा अपनी मामी ललिता पांडेय के साथ भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंच गए थे। डॉ. मेहता पांकी से भारी संख्या में अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल होने पहुंचे थे। जैसे ही शशिभूषण मेहता अपने समर्थकों के साथ मंच पर पहुंचे, अभिषेक और आशुतोष अपनी मां की तस्वीर लेकर मंच पर आ गए। उनके साथ उनकी मामी ललित पांडेय भी न्याय की गुहार करती तख्ती लेकर मंच पर आ गईं। सुचित्रा के परिजन मेहता मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे, तो दूसरी ओर डॉ. मेहता के समर्थक जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।

मंच पर चढ़ते ही बढ़ा विवाद

सुचित्रा के बेटों के मंच पर चढ़ते ही विवाद बढ़ गया। मेहता के समर्थकों ने बेटों के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी जो थोड़ी ही देर में मारपीट में तब्दील हो गई। इस दौरान भाजपा नेता सुचित्रा के परिजनों को मंच से उतरने का आग्रह करते रहे, फिर भी वे नहीं माने तो डॉ. मेहता समर्थकों ने धक्का देकर देकर सुचित्रा के दोनों बेटों को मंच से उतारा। इसके बाद भी वे दोबारा मंच पर चढ़ गए तो छोटे बेटे आशुतोष को मंच से धकेल दिया गया। इस क्रम में उसे चोट भी लगी। मेहता के समर्थकों ने बच्चों की मामी ललिता पांडेय के साथ भी धक्का-मुक्की की। सुचित्रा के बेटों की शर्ट भी फट गई।

हो-हंगामे के बीच भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष ज्योतिरीश्वर सिंह ने मामले को संभालने की कोशिश की। सिंह ने यहां तक कहा कि विरोध तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का भी होता है। इस विरोध से डरना नहीं है। इस बीच सदस्यता ग्रहण कराने की औपचारिकता पूरी की गई। इस दौरान उपाध्यक्ष आदित्य साहू समेत कई भाजपा नेता उपस्थित थे। इस मौके पर गढ़वा जिला के आजसू नेता रामाशीष यादव भी भाजपा में शामिल हुए।

टिकट मिला, तो आत्मदाह कर लूंगा : अभिषेक मिश्रा

विरोध के बावजूद शशिभूषण मेहता को भाजपा में शमिल किए जाने पर स्व. सुचित्रा के बेटे अभिषेक मिश्रा ने कहा कि शशिभूषण मेहता को यदि टिकट मिला तो वह आत्मदाह कर लेंगे। कहा, मेरी मां को न्याय चाहिए। मैं अपनी मां के लिए आखिरी दम तक लडूंगा। भाजपा एक हत्यारे को पार्टी में शामिल कर रही है।

भाजपा से भरोसा उठ गया : ललिता पांडेय

स्व. सुचित्रा की भाभी ललिता पांडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री हमारी गुहार सुन लें। हमारा भरोसा भाजपा से उठ गया है। भाजपा के पार्टी पदाधिकारियों के सामने हमें पीटा गया है। सरेआम एक महिला के साथ मारपीट हुई है और पार्टी के लोग नारी शक्ति की बात करते हैं।

भाजपा मेरी दूसरी और आखिरी पार्टी : रामाशीष यादव

आजसू छोड़कर भाजपा में शामिल हुए रामाशीष यादव ने कहा कि वे भाजपा की विचारधारा से प्रभावित होकर सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। केंद्र व राज्य की डबल इंजन की सरकार ने न सिर्फ कई कल्याणकारी योजनाएं बनाईं बल्कि उन्हें धरातल पर भी उतार कर दिखाया। उन्होंने मंच से घोषणा की कि भाजपा उनकी दूसरी और आखिरी पार्टी होगी। विश्वास दिलाया कि पार्टी के विकास के एजेंडे को आगे बढ़ाना ही उनकी प्राथमिकता होगी।

हत्यारोपितों की पार्टी बन रही भाजपा : कांग्रेस

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भाजपा में शशिभूषण मेहता की ज्वाइनिंग पर मोर्चा खोल दिया है। मेहता पर शिक्षिका सुचित्रा मिश्रा की हत्या का आरोप है। मिश्रा उन्हीं के स्कूल में वार्डन के तौर पर कार्यरत थीं। गुरुवार को कांग्रेस पार्टी के मीडिया एंड कम्युनिकेशन विभाग ने संवाददाता सम्मेलन के माध्यम से आरोप लगाया कि भाजपा में ऐसे आरोपियों की भरमार है।

पार्टी प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे, राजीव रंजन प्रसाद, लाल किशोरनाथ शाहदेव ने आरोप लगाया कि भाजपा में यौन शोषण के आरोपियों, कोयला तस्करी के आरोपियों, हत्या के आरोपियों को शामिल कराया जा रहा है। इन्हें टिकट की गारंटी भी दी जा रही है। कांग्रेस ने लगे हाथ इस मामले को चिन्मयानंद प्रकरण से भी जोड़ दिया। उन्नाव रेप कांड में आरोपित भाजपा नेता कुलदीप सिंह सेंगर का नाम भी नेताओं ने लिया।

पार्टी प्रवक्ताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा अपराधी, बलात्कारी, कोयला तस्कर जैसे असामाजिक तत्वों का पसंदीदा संगठन है। शशि भूषण मेहता को शामिल कराकर भाजपा बलात्कारियों, हत्यारों और भ्रष्टाचारियों की पसंदीदा पार्टी बन गई है। भाजपा मुख्यालय में सुचित्रा मिश्रा के परिजनों के साथ मारपीट धक्का-मुक्की और बदसलूकी को सभी ने देखा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के सामने ही गुंडागर्दी हुई। कांग्रेस की ओर से सुचित्रा मिश्रा के परिजनों की सुरक्षा की मांग की गई है। प्रेस कांफ्रेंस में शमशेर आलम, डॉ. राजेश गुप्ता, डॉ. एम. तौसिफ और ज्योति सिंह मथारू भी मौजूद थे।

जब तक कोर्ट आरोप सिद्ध नहीं करता, आप आरोपित मान ही नहीं सकते : लक्ष्मण गिलुवा

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कुशवाहा डॉ. शशि भूषण मेहता को पार्टी में शामिल होने को जायज ठहराया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि शशि भूषण मेहता से जुड़ा मामला न्यायालय में है। जब तक कोर्ट सजा नहीं देता तब तक आप किसी को आरोपित मान ही नहीं सकते। लक्ष्मण गिलुवा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि शशिभूषण मेहता ने भाजपा की सदस्यता के लिए आवेदन दिया था। भाजपा की परंपरा है जब कोई नेता दूसरा राजनीतिक दल त्याग कर पार्टी में शामिल होना चाहता है तो उस पर जरुर विचार किया जाता है। 

गिलुवा ने मेहता को आंदोलनकारी तक बताया। कहा, जब कोई आंदोलन करता है तो उसके ऊपर एफआइआर होती है। मेरे ऊपर भी कई केस हैं, लेकिन जब तक न्यायालय सजा नहीं देता, आरोप प्रमाणित नहीं होता तब तक आप आरोपित मान ही नहीं सकते। मै ऐसा मानता हूं कि जिसकी लोकप्रियता बढ़ती है उस पर आरोप लगते ही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री रघुवर दास और खुद मुझ पर भी आरोप लगे हैं। आरोप को परखना चाहिए। हालांकि उन्होंने भाजपा कार्यालय में घटी इस घटना को दुखद बताया। कहा, भाजपा में पहली बार ऐसी घटना घटी है। हम इसे देखेंगे।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप