जमशेदपुर,जेएनएन। Jamshedpur east Jharkhand Election Result 2019 मुख्‍यमंत्री रघुवर दास जमशेदपुर पूर्वी से चुनाव हार गए। उन्‍हें बागी सरयू राय ने 15725 मतों से मात देने में कामयाबी पाई। रघुवर दास को 57607 जबक‍ि सरयू राय को 73332 मत मिले। यहां कांग्रेस प्रत्‍याशी प्रोफेसर गौरव बल्‍लभ को तीसरे, जबकि झाविमो के अभय सिंह को चौथे स्‍थान पर संतोष करना पड़ा।

झारखंड विधानसभा चुनाव में सूबे की सबसे हॉट सीट जमशेदपुर पूर्वी पर मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी रहे निर्दलीय सरयू राय के बीच आरंभ से मुकाबला कड़ा रहा। इस सीट के लिए पोस्टल बैलट की गिनती मेंं आगे रहने के साथ ही रघुवर दास दो चरणों में आगे रहे। हालांकि, बाद में पिछडते चले  गए। रघुवर दास जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा से लगातार पांच बार विधायक रह चुके थे। यह उनका छठा चुनाव था। छात्र जीवन से राजनीति में कदम रखने वाले रघुवर दास तेजतर्रार संगठनकर्ता के रूप में भी जाने जाते हैं। 

टिकट होल्‍ड पर रखे जाने से पकड़ी बगाबत की राह

खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय  जमशेदपुर पश्चिमी से 2005 व 2014 में भाजपा के विधायक चुने गए थे। इस बार टिकट लगातार होल्‍ड पर रखे जाने के बाद वे बागी बनकर अपना क्षेत्र छोड़ मुख्‍यमंत्री के खिलाफ लड़ने पहुंच गए। वे जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय प्रत्‍याशी थे। इसके अलावा झाविमो से अभय सिंह और कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव बल्‍लभ प्रत्‍याशी थे। 

25 साल से मालिकाना के नाम पर जीतते रहे रघुवर, छोड़ते ही हारे

जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र से लगातार 25 साल से 86 बस्तियों को मालिकाना हक का अधिकार देने के नाम पर चुनाव लड़ कर जीतते रहे भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी रघुवर दास ने 2019 के चुनाव में मालिकाना हक देने का मुद्दा छोड़ दिया या फिर इसकी अनदेखी की। इसका परिणाम हुआ कि रघुवर दास को मुख्यमंत्री रहते हुए हार का सामना करना पड़ा। रघुवर दास ने जैसे ही 86 बस्तियों को मालिकाना हक का मुद्दा छोड़ा। मालिकाना हक के मुद्दा को सरयू राय ने पकड़ लिया। सरयू राय ने जमशेदपुर पूर्वी के 86 बस्तियों को दिल्ली की तर्ज पर मालिकाना हक दिलाने की घोषणा की। हर बार की तरह इस बार भी जमशेदपुर पूर्वी के मतदाताओं ने मालिकाना का मुद्दा उठाने वाले सरयू राय को सिर आंखों पर बिठाया और उन्हें अपना नेता चुन लिया। 

कुंजल लकड़ा ने  उठाया था मालिकाना हक का मुद्दा

बिरसानगर को बसाने वाले बिरसा सेवा दल के संस्थापक स्व. कुंजल लकड़ा ने पहली बार 1994 में मालिकाना हक का मुद्दा उठाया था। उस समय अविभाजित बिहार में बस्ती विकास समिति के तत्वावधान में मालिकाना हक का मुद्दा उठाया गया। उसके बाद 1995 में विस चुनाव हुआ जिसमें मालिकाना हक की बात उठी। 1995 से अब तक हरेक चुनाव में यह मुद्दा गंभीरता से उठता रहा है और क्षेत्र से रघुवर दास जीतते रहे। 1999 में मालिकाना हक दिलाने को लेकर गोपाल मैदान में आंदोलन हुआ, लेकिन आज तक 86 बस्ती में रहने वाले लोगों को मालिकाना हक नहीं मिल सका। 

सरयू राय पर लोगों ने जताया भरोसा 

जमशेदपुर पूर्वी में लगभग एक लाख मतदाता हैं जो 86 बस्ती में निवास करते हैं। जब रघुवर दास मुख्यमंत्री बने तो  मालिकाना हक का मुद्दा भुला दिया जो लोगों को नागवार लगा। वहीं, रघुवर दास के खिलाफ ताल ठोक चुके सरयू राय ने 86 बस्तीवासी को दिल्ली की तर्ज पर मालिकाना हक दिलाने की बात कही। जनता ने उनकी बातों पर विश्वास किया और सरयू राय के पक्ष में मतदान कर जीत दिला दी। 

जमशेदपुर पूर्वी में प्रत्याशियों को मिले मत

प्रत्याशी का नाम - पार्टी - मिले मत

  • सरयू राय - निर्दलीय - 73332 
  • रघुवर दास - भाजपा - 57607
  •  गौरव वल्लभ - कांग्रेस - 18868
  • अभय सिंह - झाविमो - 11691
  • गोपाल लोहार - निर्दलीय - 2416 
  • बंटी कुमार सिंह - निर्दलीय - 950 
  • धर्मेन्द्र कुमार सिंह - निर्दलीय - 919 
  • शंकर प्र. विश्वकर्मा - बसपा - 874
  • कुंज विभार - निर्दलीय - 809 
  • ज्ञानसागर प्रसाद - निर्दलीय - 438
  • विजय कुमार सिंह - निर्दलीय - 412  
  • सोमरा तिर्की - अंबेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया - 408  
  • धर्मेंद्र कुमार शर्मा - राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी - 356
  • आनंद कुमार पत्रलेख - युवा क्रांतिकारी पार्टी -330 
  • इंद्र हेम्ब्रम - राष्ट्रीय देशज पार्टी - 304 
  • राजेश कुमार सिन्हा- निर्दलीय - 304 
  • ईश्वरी राणा - निर्दलीय - 297     
  • देबजानी विश्वास - आमरा बंगाली पार्टी -261     
  • इंद्रजीत कुमार चंदेल - राइट टू रिकॉल पार्टी - 255  
  • तारकेश्वर तिवारी - शिवसेना - 206
  •   नोटा -1205 

सरयू राय समर्थकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच  बहस

मतगणना स्थल पर खनन विभाग परिसर में बने अपने टेंट में सरयू राय के पहुंचने के बाद उनके समर्थकों में जोश भर गया। सरयू राय के समर्थक नारेबाजी करते हुए को ऑपरेटिव कॉलेज की ओर जाने वाली सड़क की ओर बढ़े, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने घेरा बनाकर समर्थकों को रोक दिया। इस दौरान समर्थकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच बहस हुई। हालांकि, सुरक्षाकर्मियों के समझाने पर समर्थक मान गए और पीछे हट गए।

सुरक्षाकर्मियों से बहस करते सरयू राय समर्थक। 

चौथे चरण में पिछड़े रघुवर तो सरयू खेमे में शुरू हुआ जश्‍न

लगातार आगे चल रहे रघुवर दास चौथे चरण में पिछड़े तो सरयू राय के खेमे में जश्‍न शुरू हो गया। रघुवर दास को 13708 जबकि सरयू राय को  14479 मिले हैं। सरयू राय 1071 वोट से आगे रहे। 

सरयू राय के लीड लेने की खबर के बाद समर्थकों में उत्‍साह। 

दूसरे चरण की स्थिति

1.अभय सिंह, झाविमो(प्र)- 1644 

2.गौरव वल्लभ, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस- 1235  

3.रघुवर दास, भाजपा- 8212 

4.शंकर प्र. विश्वकर्मा, बसपा- 117  

5.आनंद कुमार पत्रलेख, युवा क्रांतिकारी पार्टी- 26  

6.इन्द्र हेम्ब्रम, राष्ट्रीय देशज पार्टी- 27  

7.इंद्रजीत कुमार चंदेल, राईट टू रिकॉल पार्टी- 36 

8.तारकेश्वर तिवारी, शिवसेना- 35 

9.देबजानी विश्वास, आमरा बंगाली पार्टी- 29  

10.धर्मेन्द्र कुमार शर्मा, राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी- 37  

11.सोमरा तिर्की, अंबेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया- 33 

12.ईश्वरी राणा, निर्दलीय- 51  

13.कुंज विभार, निर्दलीय- 126 

14.गोपाल लोहार, निर्दलीय- 308 

15.ज्ञानसागर प्रसाद, निर्दलीय- 65  

16.धर्मेन्द्र कुमार सिंह, निर्दलीय- 133 

17.बंटी कुमार सिंह, निर्दलीय- 68 

18.राजेश कुमार सिन्हा, निर्दलीय- 15  

19.विजय कुमार सिंह, निर्दलीय-  50

20.सरयू राय, निर्दलीय- 6763 

पहले चरण की स्थिति

1.अभय सिंह, झाविमो(प्र)- 1041

2.गौरव वल्लभ, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस- 435

3.रघुवर दास, भाजपा- 4153

4.शंकर प्र. विश्वकर्मा, बसपा- 78

5.आनंद कुमार पत्रलेख, युवा क्रांतिकारी पार्टी- 18

6.इन्द्र हेम्ब्रम, राष्ट्रीय देशज पार्टी- 19 

7.इंद्रजीत कुमार चंदेल, राईट टू रिकॉल पार्टी- 24

8.तारकेश्वर तिवारी, शिवसेना- 25

9.देबजानी विश्वास, आमरा बंगाली पार्टी- 20

10.धर्मेन्द्र कुमार शर्मा, राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी- 26

11.सोमरा तिर्की, अंबेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया- 23

12.ईश्वरी राणा, निर्दलीय- 35

13.कुंज विभार, निर्दलीय- 92

14.गोपाल लोहार, निर्दलीय- 212

15.ज्ञानसागर प्रसाद, निर्दलीय- 48 

16.धर्मेन्द्र कुमार सिंह, निर्दलीय- 90

17.बंटी कुमार सिंह, निर्दलीय- 36

18.राजेश कुमार सिन्हा, निर्दलीय- 10

19.विजय कुमार सिंह, निर्दलीय- 31

20.सरयू राय, निर्दलीय- 3811

 नोटा-71 

जमशेदपुर पूर्वी  के प्रत्‍याशी

1.रघुवर दास (भाजपा) : कमल फूल 

2. सरयू राय : (निर्दलीय) : गैस सिलेंडर

3. गौरव वल्लभ (कांग्रेस) : पंजा

4. अभय सिंह : (झाविमो) : कंघी

6. आनंद कुमार पत्रलेख (युवा क्रांतिकारी पार्टी) : मोतियों का हार

7. इंद्र हेम्ब्रम (राष्ट्रीय देशज पार्टी) : कैंची 

8. इंद्रजीत कुमार चंदेल (राइट टू रिकॉल पार्टी) : ऑटो रिक्शा

9. देबजानी विश्वास (आमरा बंगाली पार्टी) : बैट्री टॉर्च  

10. तारकेश्वर तिवारी (शिव सेना) : चाबी

11. धर्मेंद्र कुमार शर्मा (राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी) : फूलगोभी

12. सोमरा तिर्की (आंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया) : कोट

13. ईश्वरी राणा (निर्दलीय) : चारपाई

14. कुंज विभार (निर्दलीय) : अलमारी

15. गोपाल लोहार (निर्दलीय) : गैस चूल्हा

16. ज्ञानसागर प्रसाद (निर्दलीय) : ट्रक

17. धर्मेंद्र कुमार सिंह (निर्दलीय) : भोजन से भरी थाली

18. बंटी कुमार सिंह (निर्दलीय) : कांच का गिलास

19. राजेश कुमार सिन्हा (निर्दलीय) : कप-प्लेट

20. विजय कुमार सिंह (निर्दलीय) : फुटबॉल

चुनाव डेस्क : पूर्वी सिंहभूम के सभी छह विस क्षेत्रों की मतगणना एक साथ होगी शुरू

ये जानना जरूरी

  •  सुबह पांच बजे मतगणना कर्मियों का होगा रैंडमाइजेशन
  • सुबह 7.30 से 7.45 बजे के बीच खुलेगा स्ट्रांग रूम
  • सुबह आठ बजे शुरू होगी पोस्टल बैलट की गिनती होगी शुरू
  • सुबह 8.30 बजे ईवीएम से शुरू होगी मतगणना
  • सुबह नौ बजे तक मिलने लगेगा मतगणना का रूझान
  • दोपहर 3.30 बजे तक ईवीएम की मतगणना समाप्त करने का लक्ष्य
  • शाम 4 बजे से शुरू होगा पांच-पांच बूथों के वीवीपैट से ईवीएम का मिलान
  • शाम 5.30 बजे तक मतगणना की प्रक्रिया समाप्त करने का लक्ष्य

किस सीट की गणना कितने राउंड

विस क्षेत्र : बूथ : टेबुल : राउंड

  • बहरागोड़ा : 264 : 14 : 19 
  • घाटशिला : 291 : 15 : 20
  • पोटका : 326 : 16 : 21
  • जुगसलाई : 381 : 20 : 20
  • जमशेदपुर पूर्वी : 293 : 15 : 20
  • जमशेदपुर पश्चिमी : 330 : 16 : 21

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस