चाईबासा, सुधीर पांडेय।  Chaibasa Jharkhand Election Result 2019   पश्चिमी सिंहभूम की हो आदिवासी बहुल चाईबासा सीट पर झामुमो प्रत्याशी दीपक बिरुवा ने जीत की हैट्रिक लगा दी है। दीपक बिरुवा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ज्योति भ्रमर तुबिद को 26019 हजार मतों के अंतर से हराकर तीसरी बार चाईबासा से विधायक बनने का गौरव हासिल किया है। दीपक बिरुवा को 68945 जबकि  जेबी तुबिद को  42926 मत मिले। 

गृह सचिव के पद से वीआरएस लेकर राजनीति में आये पूर्व आइएएस अधिकारी जेबी तुबिद को उनकी अफसरशाही शैली ने लगातार दूसरी बार साधारण बीए पास जनप्रतिनिधि से हरवा दिया। तुबिद का अफसरशाही रवैया चाईबासा की जनता को रास नहीं आया। यही वजह रही कि वो 21 राउंड में एक बार भी दीपक बिरुवा को पछ़ाड़ नहीं पाये। दीपक बिरुवा ने पहले राउंड से जो बढ़त बनायी वो अंतिम दौर तक बनी रही।

भीरतरघात ने डुबोई भाजपा की नैया 

रणनीति की बात करें तो चाईबासा सीट पर झामुमो जहां एकजुट होकर पूरे चुनाव में लड़ी, वहीं, भाजपा में टिकट बंटवारे के बाद से ही फूट पड़ गयी थी। टिकट की आस लगाकर बैठे लोगों ने चुनाव में भाजपा के लिए काम नहीं किया। तुबिद अपने आभा मंडल से बाहर नहीं निकल पाये। चुनाव से पहले यह लग रहा था कि लगातार 5 साल क्षेत्र में रहने का फायदा उन्हें मिलेगा मगर अंतिम समय में टिकट लेकर मैदान में आये और फिर हार गये।

दसवें चरण तक की स्थिति

  • प्रथम - दीपक बिरुवा (झामुमो)- 35937
  • द्वितीय - जेबी तुबिद (भाजपा )- 24522

नौवे राउंड का हाल

  • आगे - दीपक बिरुवा (झामुमो) 32112
  • पीछे - जेबी तुबिद (भाजपा ) 19895

चाईबासा  तीसरा चरण

  • चाईबासा विधानसभा से झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रत्याशी दीपक बिरवा 7910 मतों से आगे चौथे राउंड में पहुंचे।
  • आगे - दीपक बिरुवा (झामुमो) 13045
  • पीछे - जेबी तुबिद (भाजपा )  5135 
  • पहले चरण की गिनती के बाद चाईबासा से जेएमएम के दीपक बिरूआ आगे। भाजपा के जेबी तुबिद पीछे चल रहे हैं। 

चाईबासा के महिला कॉलेज स्थित मतगणना केंद्र में प्रवेश के लिए कतार में लगे पश्चिमी सिंहभूम के पांचों विधानसभा क्षेत्र के प्रत्‍याशियों के अभिकर्ता।

राज्य की सियासत में अहम रोल 

सिंहभूम जिले का मुख्‍यालय और सिंहभूम लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में आने वाली यह विधानसभा सीट राज्‍य की सियासत में अहम भूमिका निभाती है। 2005 के चुनाव में यहां से भाजपा के पुटकर हेमब्रोम ने जीत हासिल की थी। उन्‍होंने निर्दलीय प्रत्‍याशी दीपक बिरुआ को हराया और विधायक बने। 2009 के चुनाव में यहां से झामुमो नेता दीपक बिरुआ विधायक चुने गए। दीपक 2014 के चुनाव में भी विधायक बने।

भाजपा और झामुमो के बीच जंग

इस इलाके हर चुनाव में झामुमो और भाजपा के बीच दबदबे को लेकर जंग चलती रही है। सीमेंट बनाने वाली एसीसी कंपनी का कारखाना इसी इलाके में स्‍थापित है। इस इलाके में भरपूर मात्रा में खनिज पदार्थों की खान मौजूद है। एस आर रुंगटा समूह, ठाकुर प्रसाद साव ऐंड सन्स, साहा ब्रदर्स उद्योग घरानों ने यहां अपनी कंपनियां स्‍थापित की हैं। यहां बड़ी संख्‍या में लघुस्तरीय इस्पात कम्पनियां स्थित हैं। झारखंड राज्‍य के लोग बड़ी संख्‍या में इन कंपनियों में रोजगार करते हैं।

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस