गोहाना/सोनीपत (परमजीत)। Haryana Assembly Election 2019: सन 1996 । स्थान-जींद रोड स्थित आर्य स्कूल। यहां बनाया गया था गोहाना विधानसभा क्षेत्र का मतगणना केंद्र। कड़ी सुरक्षा के बीच देर शाम को शुरू हुई मतगणना, जो अगली सुबह तक चली। 13 राउंडों तक लगातार समता पार्टी के प्रत्याशी किशन सिंह आगे चल रहे थे। 13वें राउंड में भी उन्होंने बढ़त हासिल की लेकिन अंतिम 14 वें राउंड में बाजी पलट गई। हरियाणा विकास पार्टी के प्रत्याशी जगबीर सिंह मलिक अंतिम राउंड में बढ़त लेकर बाजी मार गए थे और विधायक बने। आज भी लोग उस किस्से को याद करते हैं।

भाजपा ने गठबंधन करके लड़ा था चुनाव

हरियाणा विकास पार्टी (हविपा) और भाजपा ने गठबंधन करके प्रदेश में 1996 का विधानसभा चुनाव लड़ा था। गोहाना विधानसभा सीट से गठबंधन के प्रत्याशी जगबीर सिंह मलिक थे। समता पार्टी के प्रत्याशी किशन सिंह सांगवान थे।

मलिक पहली बार लड़ रहे थे चुनाव

सांगवान पहले भी विधायक रह चुके थे जबकि मलिक पहली ही बार अपना भाग्य आजमा रहे थे। मतदान के बाद बारी आई मतगणना की। आर्य स्कूल में बनाया गया था मतगणना केंद्र। उन दिनों बैलेट पेपर पर मतदान होता था और मतगणना में अधिक समय लगता था।

 बढ़त के बाद कार्यालय में हो रही थी मिठाई बांटने की तैयारी

इस केंद्र पर शाम करीब 6 बजे मतगणना शुरू हुई। पीपियां खुलती गई और एक के बाद एक राउंड की मतगणना होती चली गई। उस समय करीब 14 राउंडों में मतगणना पूरी हुई। किशन सिंह सांगवान 13 राउंड लगातार बढ़त लेते चले गए। उनकी जीत पक्की मानी जा रही थी। उनके कार्यालय पर मिठाई बांटने की तैयारी शुरू हो चुकी थी।

872 वोट से हार गए थे चुनाव

उधर हविपा के प्रत्याशी के समर्थकों में निराशा छाई हुई थी। मतगणना होते-होते अगले दिन की सुबह हो चुकी थी। जब अंतिम राउंड की मतगणना हुई तो जगबीर सिंह अच्छे मतों से बढ़त लेते हुए बाजी मार ले गए थे। इस चुनाव में मलिक को कुल 22837 वोट मिले थे जबकि किशन सिंह सांगवान 21965 ले पाए थे। सांगवान यह चुनाव 872 वोट के अंतर से हार गए।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप