नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Assembly Election 2020: चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी (AAP) को करारा झटका लगा है। पार्टी के कई नेताओं ने दामन छोड़ दिया है और नए ठिकाने की तलाश कर ली है। अन्ना हजारे के आंदोलन में शामिल रहे आप के कई नेता व कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हो गए। प्रदेश भाजपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री व दिल्ली के चुनाव प्रभारी प्रकाश जावडेकर, राज्यसभा सदस्य विजय गोयल व प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष शाजिया इल्मी ने उनका स्वागत किया।

ये नेताओं ने छोड़ा आप का साथ

आप नेता करण सिंह, अमित श्रीवास्तव, पंकज तोमर, सरोज गोपाल, रवि सोनकर, विरेंद्र गौड़ सहित अन्य लोगों ने भाजपा की सदस्यता ली। जावडेकर ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने अन्ना हजारे के मूल सिद्धांतों को नजरअंदाज करके दिल्ली को पांच साल तक छलने का काम किया है। अन्ना नहीं चाहते थे कि कोई राजनीतिक पार्टी बने, लेकिन केजरीवाल ने राजनीति में आने के लिए नई पार्टी बनाई।

आरोप: बिहार-यूपी के लोगों घुसपैठिया समझते हैं केजरीवाल

वह उत्तर प्रदेश व बिहार से आए लोगों को घुसपैठिया समझते हैं, इसलिए कहते हैं कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर लागू होने पर मनोज तिवारी को दिल्ली से बाहर जाना पड़ेगा। सीएए नागरिकता छीनने के लिए नहीं है, बल्कि पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान से प्रताडि़त होकर आए शरणार्थियों को नागरिकता देने को है।

आचार संहिता उल्‍लंघन के 20 नए मामले दर्ज

इधर आचार संहिता के उल्लंघन में 20 नए मामले दर्ज किए गए हैं। यह सभी नए मामले गैर राजनीतिक लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए हैं। किसी राजनीतिक दल के खिलाफ कोई नया मामला दर्ज नहीं हुआ है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के अनुसार चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन में अब तक दर्ज मामलों की कुल संख्या 45 हो गई है। इसमें से 41 मामलों में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

वहीं चार मामलों में डीडी एंट्री की गई है। स्वीकृति के बगैर बैठक करने व मतदाताओं को लालच देने की शिकायतें भी आयोग को मिल रही है। इससे वाहनों के दुरुपयोग, लाउडस्पीकर से संबंधित नियमों के उल्लंघन, लालच देने के आरोप में चार मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं आर्म्स एक्ट के तहत अभी तक 100 मामले दर्ज कर 111 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया हैं। इसके अलावा 109.65 किलो नशीला पदार्थ जब्त किया है। प्रचार के लिए अब तक 26 आवेदन मिले है। इसमें 18 स्वीकृत जबकि छह लंबित और दो खारिज कर दिए गए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस