जेएनएन, अरवल। Bihar Election 2020:  अरवल जिला के कुर्था विधानसभा क्षेत्र में कुल 19 प्रत्याशी चुनाव मैदान में किस्‍मत आजमा रहे हैं। स्थानीय विधायक जदयू के सत्यदेव कुशवाहा इस बार हैट्रिक लगाने के लिए फिर मैदान में कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री बागी कुमार वर्मा इस बार राजद के टिकट पर ताल ठोक रहे हैं। वे दो बार मखदुमपुर के विधायक रह चुके हैं। राजद की सरकार में राज्य मंत्री भी रहे हैं। वर्ष 2015 के चुनाव में सत्यदेव कुशवाहा ने रालोसपा प्रत्याशी अशोक वर्मा को हराया था। लोजपा ने भुवनेश्वर पाठक को इस क्षेत्र से टिकट दिया है। पूर्व मंत्री सुचित्रा सिन्हा भासपा से चुनाव लड़ रही हैं। जबकि रालोसपा ने पप्पू वर्मा को अपना प्रत्याशी बनाया है। यहां सिंचाई, नेनुआ नाले का निर्माण और अनुमंडल का दर्जा प्रमुख मुद्दा है। मतदान के बाद सभी का भाग्‍य मतपेटियों में बंद हो गया है।

1951 में हुआ था पहला विधानसभा चुनाव

इस सीट पर यादव, कुशवाहा और भूमिहार जाति के मतदाता निर्णायक होते हैं। इस सीट पर अब तक भाजपा को जीत नहीं मिली है। यहां कांग्रेस, समाजवादी दलों के बीच ही चुनावी जंग होती रही है।  पहला चुनाव प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के रामचंद्र सिंह यादव जीते थे। उसके बाद के चुनाव में कांग्रेस के कामेश्वर शर्मा विधायक चुने गए। इसके बाद 1972 में कांग्रेस के खाते में यह सीट गई। उसके बाद से कभी यहां कांग्रेस प्रत्याशी जीत नहीं पाए। 1969 में यहां से एसएसपी के जगदेव प्रसाद चुनाव जीते थे। उन्हें बिहार का लेनिन कहा जाता है।

अबतक के विधायक

1951 रामचंद्र सिंह यादव प्रजा, सोशलिस्ट पार्टी

1957 कामेश्वर शर्मा ,कांग्रेस

1962 रामचंद्र सिंह यादव, प्रजा सोशलिस्ट पार्टी

1967 जगदेव प्रसाद ,संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी

1969 जगदेव प्रसाद, शोषित समाज दल

1972 रामाश्रय प्रसाद सिंह, कांग्रेस

1977 नागमणि, शोषित समाज दल

1980 सहदेव प्रसाद यादव, जेएनपी

1985 नागमणि , निर्दलीय

1990 मुद्रिका सिंह यादव, जनता दल

1995 सहदेव प्रसाद यादव, जनता दल

2000 शिव वचन यादव , राजद

2005 सुचित्रा सिन्हा, लोजपा

2010 सत्यदेव सिंह , जदयू

2015 सत्यदेव सिंह, जदयू

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस