Move to Jagran APP

Wrestlers Protest: सबूत मिलने पर बृजभूषण शरण सिंह को भेजेंगे नोटिस: दिल्ली पुलिस

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण का आरोपों के मामले में कनाट प्लेस थाना पुलिस की पांच सदस्यीय टीम जांच में जुटी हुई है। दस साल में घटित घटनाओं की जांच में पुलिस को लंबा वक्त लगेगा।

By Jagran NewsEdited By: Nitin YadavSat, 06 May 2023 07:47 AM (IST)
Wrestlers Protest: सबूत मिलने पर बृजभूषण शरण सिंह को भेजेंगे नोटिस: दिल्ली पुलिस
सबूत मिलने पर बृजभूषण शरण सिंह को भेजेंगे नोटिस: दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली, राकेश कुमार सिंह। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण का आरोपों के मामले में कनाट प्लेस थाना पुलिस की पांच सदस्यीय टीम जांच में जुटी हुई है। बृजभूषण पर लगाए गए आरोप 2012 से 2022 के बीच के हैं। ऐसे में दस साल में घटित घटनाओं की जांच में पुलिस को लंबा वक्त लगेगा।

अभी पुलिस ने सातों पीड़ित पहलवानों के धारा 161 के ही बयान दर्ज किए गए हैं। सबसे महत्वपूर्ण 164 के बयान हैं, जिन्हें अदालत में मजिस्ट्रेट के समक्ष कराया जाना है। अभी इसके लिए कोर्ट से अनुराेध नहीं किया गया है। अनुरोध करने पर मजिस्ट्रेट जब बयान दर्ज करने के लिए तारीख देंगे तब पीड़िताओं को ले जाया जाएगा।

पुलिस के अनुसार, बृजभूषण पर लगे आरोपों पर साक्ष्य मिलने पर ही उन्हें नोटिस भेजकर पूछताछ की जाएगी। पुलिस का कहना है कि जांच अभी प्रारंभिक स्तर पर है। दिल्ली समेत देश के अन्य राज्यों व विदेश में भी छेड़खानी करने के आरोप लगाए गए हैं। दिल्ली स्थित खेल से जुड़े एक कार्यालय में सबसे अधिक वारदात होने के आरोप हैं। वहां जाकर पुलिस जांच करेगी।

लोगों को भड़काने का किया गया प्रयास

पुलिस को एक यूट्यूबर के बारे में पता चला है जिसने बुधवार देर रात जंतर-मंतर पर पुलिसकर्मियों के साथ पहलवानों व दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सोमनाथ भारती के समर्थकों के बीच धक्का-मुक्की के दौरान 20 से अधिक ट्वीट कर मामले को भड़काने का प्रयास किया। इसके हर ट्वीट को करीब 2000-2000 लोगों ने रिट्वीट किया था। इस यूट्यूबर को किसान आंदोलन के दौरान सिंघु बार्डर पर भी किसानों को भड़काने से संबंधित ट्वीट करने पर गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस को एक राजनीतिक पार्टी द्वारा उसे फंडिंग करने का पता चला है। पुलिस स्वत: संज्ञान लेकर इसके खिलाफ कार्रवाई करने पर विचार कर रही है। पुलिस का कहना है कि बुधवार रात पांच पुलिसकर्मी घायल हुए थे जिनमें दो महिलाकर्मी थी। पहलवानों में विनेश के भाई राहुल को पंखे से चोट लगी थी। एक वायरल वीडियो में उसने यह बात स्वीकारी है।

पहलवानों का धरना जारी, सैलजा ने दिया समर्थन

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी को लेकर जंतर-मंतर पर पहलवानों का धरना 13वें दिन भी जारी रहा। हालांकि चर्चित राजनीतिक हस्तियां अधिक संख्या में शुक्रवार को धरनास्थल पर नहीं दिखीं। हरियाणा की कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा और दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार जरूर पहुंचे और पहलवानों को समर्थन दिया। उन्होंने बृजभूषण शरण सिंह को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। इसके अलावा कई सामाजिक और छात्र संगठनों ने धरनास्थल पर उपस्थिति दर्ज कराई।

धरनास्थल पर लगातार अंतरराष्ट्रीय पहलवान विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया के समर्थन में लोग पहुंच रहे हैं। बुधवार रात फोल्डिंग पलंग ले जाने के दौरान पुलिस से पहलवानों की हुई झड़प के बाद बजरंग पुनिया ने लोगों से धरनास्थल पर आने की अपील की थी। इसके बाद पुलिस ने बार्डर क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी थी, तब से कम संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। हालांकि भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने सर्वखाप मुख्यालय सोरम, मुजफ्फरनगर में सभा की थी, जिसमें सात मई को खापों के साथ धरनास्थल पर पहुंचने की बात कही थी। इसको देखते हुए सात मई के बाद से धरनास्थल पर बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

पहलवानों के समर्थन में उतरे अनिल विज

पहलवानों के समर्थन में उतरे हरियाणा के मंत्री अनिल विज जासं, अंबाला : हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी धरना दे रहे पहलवानों के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि वह खिलाड़ियों के साथ हैं। विज ने कहा कि सारा मामला उच्च स्तर पर टेकअप किया जा रहा है। वह खुद खेल मंत्री रहे हैं और इसके लिए अगर इसके लिए केंद्र सरकार से बात करनी पड़ी, तो अवश्य करूंगा, ताकि मामले का सम्मानपूर्वक समाधान हो जाए। कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाए थे कि जब खिलाड़ी मेडल लाते हैं, तो मुख्यमंत्री फोटो खिंचवाने के लिए तुरंत आगे आ जाते है, परंतु अब बेटियों का सम्मान नहीं कर रहे हैं।

साक्ष्य जुटाने का प्रयास कर रही दिल्ली पुलिस

डीसीपी नई दिल्ली जिला प्रणव तायल का कहना है कि पुलिस साक्ष्य जुटाने का प्रयास कर रही है। साक्ष्य मिलने पर अगर जरूरत होगी तब बृजभूषण शरण सिंह को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा जाएगा। सूत्रों की मानें तो सुप्रीम कोर्ट से गिरफ्तारी को लेकर कोई निर्देश न मिलने पर संभावना है कि पहलवान हाई कोर्ट जाएंगे। ऐसे में पुलिस हाई कोर्ट के निर्देशों का इंतजार कर रही है। उसके बाद ही गिरफ्तारी को लेकर कोई निर्णय लेगी।

पुलिस को मिली आडियो क्लिप

बालिग पहलवानों द्वारा दर्ज कराई गई एफआइआर में बृजभूषण के अलावा एक कोच पर भी आरोप लगाए गए हैं। पुलिस उससे भी पूछताछ की कोशिश में जुटी है। उधर, पुलिस को एक आडियो क्लिप मिली है, जिसमें एक अंतरराष्ट्रीय पहलवान महिला पहलवान से कह रहा है कि वह ऐसी लड़की का प्रबंध करे जो शिकायत दे। पुलिस आडियो की जांच कर रही है।

पहलवानों को दी गई सुरक्षा

नई दिल्ली जिला पुलिस ने सभी छह महिला पहलवानों के लिए 12-12 घंटे के लिए जिले से ही एक-एक पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात किया है। नाबालिग की स्पेशल सेल से सुरक्षा समीक्षा कराने के बाद सिक्योरिटी यूनिट से सुरक्षा मुहैया कराई गई है। सिक्योरिटी यूनिट के पुलिसकर्मियों को एक निजी वाहन भी दिया गया है।