राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली के सबसे अव्यवस्थित मार्गो में शामिल शहीद मंगल पांडेय मार्ग अगले तीन साल में सिग्नल फ्री होगा। यमुना पर बन रहे सिग्नेचर ब्रिज से लेकर गाजियाबाद के भोपुरा बॉर्डर तक पूरे मार्ग पर लगभग साढ़े सात किलोमीटर तक के क्षेत्र में कोई लालबत्ती नहीं होगी। इस रोड पर 66 कट बंद किए जाएंगे और बड़ी लालबत्तियों को सिग्नल फ्री किए जाने के लिए दो फ्लाईओवर बनाए जाएंगे। योजना को पूरा करने के लिए तीन साल का समय निर्धारित किया गया है। उपराज्यपाल ने मंगल पांडेय मार्ग सिग्नल फ्री योजना को 22 नवंबर 2016 को मंजूरी दे दी थी। पीडब्ल्यूडी ने सभी कार्यवाही पूरी कर योजना को कुछ दिन पहले वित्तीय अनुमति के लिए दिल्ली सरकार के पास भेजा है। माना जा रहा है कि जल्द ही इस योजना को वित्तीय अनुमति मिल जाएगी।

ज्ञात हो कि पीडब्ल्यूडी ने वजीराबाद रोड (शहीद मंगल पांडेय रोड) को निर्माणाधीन सिग्नेचर ब्रिज से भोपुरा बॉर्डर तक सिग्नल फ्री करने की योजना बनाई है। रोड पर भजनपुरा लालबत्ती से लेकर यमुना विहार के सामने तक लगभग सात सौ मीटर लंबा फ्लाईओवर बनेगा। वहीं, दूसरा फ्लाईओवर नंद नगरी लालबत्ती से लेकर गगन सिनेमा टी-प्वाइंट तक बनेगा। योजना पर साढ़े छह सौ करोड़ की राशि खर्च होने का अनुमान है।

इस मार्ग को लालबत्तियों के चलते पूरा करने में पैंतालिस मिनट से लेकर एक घंटे का वक्त लगता है, लेकिन पांच लालबत्तियां बंद हो जाने से यह दूरी 15 मिनट में पूरी हो सकेगी।

-------------------

लोनी रोड गोल चक्कर पर बनेगा अंडरपास

इस योजना के तहत लोनी रोड गोल चक्कर फ्लाईओवर के नीचे अंडरपास बनेगा। इससे लोनी रोड गोल चक्कर पर लगने वाला जाम समाप्त होगा। इस अंडरपास की लंबाई छह सौ मीटर के करीब होगी। इसके बनने से शाहदरा की ओर से लोनी जाने वालों को बड़ी राहत मिलेगी।

-----------------

योजना के बारे में कुछ मुख्य तथ्य

-वजीराबाद से भोपुरा बॉर्डर तक यातायात होगा सिग्नल फ्री।

-साढ़े सात किलोमीटर लंबे मार्ग पर नहीं होगी लालबत्ती।

-भजनपुरा से गोकुलपुरी तक फ्लाईओवर बनाकर तीन लालबत्तियां हटाई जाएंगी।

-गगन सिनेमा टी-प्वाइंट पर फ्लाईओवर बनेगा।

-लोनी रोड गोल चक्कर पर फ्लाईओवर के नीचे अंडरपास बनेगा।

-वजीराबाद से भोपुरा बॉर्डर तक लोग 15 मिनट में पहुंच सकेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप