Move to Jagran APP

Delhi: श्रद्धा मर्डर केस दोहराने की कोशिश; आरोपी ने लिव-इन पार्टनर का डाटा केबल से घोंटा गला, फ्रिज में रखा शव

पश्चिमी दिल्लीमहरौली इलाके में हुए श्रद्धा हत्याकांड को लोग भूल भी नहीं पाए थे कि राजधानी में इसी तरह की एक और घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। एक युवक ने अपनी लिवइन पार्टनर निक्की यादव की कार में गला घोंटकर हत्या कर दी।

By Jagran NewsEdited By: Abhi MalviyaPublished: Tue, 14 Feb 2023 10:55 PM (IST)Updated: Tue, 14 Feb 2023 10:55 PM (IST)
आरोपी ने लिव-इन पार्टनर की डाटा केबल से गला घोंटकर हत्या कर दी।

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पश्चिमी दिल्ली के महरौली इलाके में हुए श्रद्धा हत्याकांड को लोग भूल भी नहीं पाए थे कि राजधानी में इसी तरह की एक और घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। पांच वर्षों से साथ रह रहे एक युवक ने अपनी लिव-इन पार्टनर निक्की यादव की कार में गला घोंटकर हत्या करने के बाद शव मित्राऊं गांव के खाली प्लाट में स्थित अपने ढाबे में रखे फ्रिज में छिपा दिया।

वारदात के अगले दिन की शादी

वारदात के अगले दिन उसने दूसरी युवती से शादी भी कर ली। उधर, लिव-इन में रहने वाली युवती के लापता होने और हत्या की आशंका की सूचना क्राइम ब्रांच को मिलने पर पुलिस ने छानबीन के बाद मंगलवार सुबह आरोपित साहिल गहलोत को मित्राऊं से दबोच लिया।

उसकी निशानदेही पर पुलिस टीम ने ढाबे के फ्रिज से निक्की का शव भी बरामद कर लिया। निक्की मूल रूप से झज्जर के गांव खेड़ी खातीवास की निवासी थी। विशेष आयुक्त क्राइम ब्रांच रवींद्र सिंह यादव के अनुसार, साहिल कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था, वहीं निक्की मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी।

साहिल उत्तम नगर स्थित कोचिंग में पढ़ाई करता था, जबकि निक्की जनकपुरी स्थित आकाश कोचिंग संस्थान में पढ़ाई कर रही थी। अक्सर कोचिंग जाते समय एक ही बस में जाने के कारण दोनों में दोस्ती हो गई फिर दोस्ती प्रेम में तब्दील हो गई। कोचिंग कक्षा से पहले और कोचिंग कक्षा के बाद दोनों मिलने लगे।

ग्रेटर नोएडा और द्वारका में लिव-इन में रहे दोनों

वर्ष 2018 में दोनों ने ग्रेटर नोएडा के गलगोटिया कालेज में अलग-अलग कोर्स में दाखिला ले लिया था। साहिल वहां बीफार्मा कर रहा था और निक्की बीए अंग्रेजी आनर्स कर रही थी। दोनों पहले ग्रेटर नोएडा में लिव-इन में रहे। वहां रहने के दौरान दोनों कई बार देहरादून, मनाली, ऋषिकेश व अन्य जगहों पर धूमने भी गए। लाकडाउन के दौरान दोनों अपने-अपने घर चले गए। लाकडाउन खत्म होने के बाद दोनों फिर दिल्ली लौटे और द्वारका में साथ रहने लगे।

परिवार वाले थे अंजान

साहिल व निक्की दोनों के परिवार वाले इस रिश्ते से अंजान थे, इसलिए रिश्ते से अंजान साहिल के स्वजन उसपर लगातार शादी का दबाव बना रहे थे। परिवार वालों ने पिछले वर्ष दिसंबर में ही साहिल की शादी तय कर दी थी। नौ फरवरी को सगाई और 10 फरवरी को शादी का दिन तय हुआ था।

शादी तय होने से परेशान थी निक्की

साहिल का रिश्ता तय हो जाने की बात से निक्की पूरी तरह अनजान थी, लेकिन कुछ दिन पहले निक्की को किसी के माध्यम से पता चल गया कि साहिल का रिश्ता तय हो चुका है और 10 फरवरी को उसकी शादी होगी। तबसे वह परेशान रहने लगी। वह बीते कुछ समय से अकेले रह रही थी और साहिल वहां आता-जाता था।

सगाई वाले दिन की हत्या

निक्की ने जब साहिल से झगड़ा करना शुरू किया तब सगाई वाले दिन नौ फरवरी की शाम साहिल, निक्की को लेकर कार से घूमने निकल गया। कई जगह घूमने के बाद दोनों कश्मीरी गेट इलाके में पहुंचे। देर रात घूमने के दौरान साहिल ने कार में ही मोबाइल फोन के डाटा केबल से निक्की का गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या के बाद साहिल शव को लेकर मित्राऊं गांव पहुंच गया। वहां मित्राऊं व कैर गांव के बीच सुनसान इलाके में खाली प्लाट पर उसका ढाबा है। उस ढाबे में रखे फ्रिज को खाली कर साहिल ने निक्की का शव छिपा दिया और बाहर से ताला बंद कर उसकी चाबी अपने पास रख ली। उसके बाद वहां से वह अपने घर चला गया और अगले दिन 10 फरवरी को शादी कर ली।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.