नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली महिला आयोग ने बंधक बनाई गई एक 20 वर्षीय युवती को हरियाणा के हिसार से छुड़ाया। 12 फरवरी को पीड़िता की मां ने दिल्ली महिला आयोग की सदस्य फिरदौस खान को अपनी बेटी की गुमशुदगी की बात बताई थी।

दिल्ली महिला आयोग के अनुसार, कुछ साल पहले महिला की बेटी का विवाह दिल्ली के रहने वाले एक युवक से हुआ था, लेकिन बार-बार दहेज की मांग और मारपीट से तंग आकर मायके में रहने आ गई। कुछ समय बाद उनकी बेटी को घर के पड़ोस में रहने वाला एक युवक अगवा कर हरियाणा ले गया। उसने युवती से जबरन विवाह कर लिया। कुछ दिनों बाद यहां भी दहेज को लेकर मारपीट होने लगी। इस बीच युवती को बेटी पैदा हुई। इसके बाद भी युवक उसके साथ मारपीट करता रहा। इस बीच युवती की तबीयत बिगड़ने लगी तो युवक उसे उसके मायके छोड़ गया।

कुछ दिनों बाद युवक के परिवार वाले युवती को अपने घर ले जाने की जिद करने लगे। हालांकि, युवती की मां ने उसे भेजने से मना कर दिया तो कुछ दिनों बाद युवक उसे जबरन अपने साथ हरियाणा ले गया। वहां युवक ने युवती को लंबे समय तक एक कमरे में बंद रखा और उसे खाना तक नहीं दिया। पीड़िता की मां की शिकायत सुनने के बाद महिला आयोग की सदस्य फिरदौस खान ने हिसार के एसएसपी को वारदात से अवगत कराया। शिकायत मिलने के दो घंटे में ही उसे हिसार से रेस्क्यू कर दिल्ली लाया गया।

उधर, आयोग के मुताबिक युवती की हालत बहुत ज्यादा खराब है, वह देखने में पूरी तरह कुपोषित नजर आ रही थी। महिला आयोग ने युवती और उसकी बेटी को सुरक्षित उसके घर वापस भेज दिया है। आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बताया कि यह मामला बहुत ही संगीन और डराने वाला है। इस महिला के साथ जिस प्रकार का उत्पीड़न हुआ वो बहुत ही क्रूर था।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस