नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पश्चिमी दिल्ली के बिंदापुर थाना क्षेत्र के प्रताप गार्डन इलाके में खतरनाक तरीके से बाइक चला रहे शख्स को संभल कर ड्राइविंग करने की नसीहत इतनी नागवार गुजरी कि उसने साथियों के साथ मिलकर दो भाइयों पर चाकू से हमला कर दिया। हमले में घायल एक की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दूसरे भाई को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

दिल्ली पुलिस को घटना की जानकारी रविवार देर रात करीब एक बजे अस्पताल से मिली। पुलिस जब अस्पताल पहुंची तब सूरज प्रकाश बयान देने की स्थिति में नहीं थे। उनके भाई चंद्र प्रकाश ने पुलिस को बताया कि दोनों भाई खरीदारी के लिए पैदल ही बाजार जा रहे थे। इसी दौरान पीयूष शर्मा सूरज के सामने से तेज रफ्तार में खतरनाक तरीके से बाइक निकालकर ले जा रहा था। सूरज ने उसे ठीक से बाइक चलाने की नसीहत दी, तो इससे पीयूष गुस्सा हो गया और सूरज के साथ झगड़ा करने लगा। इसके बाद उसने फोन कर अपने साथियों को मौके पर बुला लिया और सभी दोनों भाइयों के साथ मारपीट करने लगे। इसी दौरान आरोपितों ने दोनों भाइयों पर चाकू से हमला कर दिया। घटना को अंजाम देकर आरोपित फरार हो गए। इसके बाद आसपास के लोगों ने घायल सूरज प्रकाश व चंद्र प्रकाश को उपचार के लिए हरि नगर स्थित दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान सुबह पौने पांच बजे सूरज प्रकाश की मौत हो गई।

हत्या के आरोपित पीयूष शर्मा व साथियों को पुलिस ने दबोचा

इस मामले में पुलिस ने हत्या व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर पीयूष, संदीप व शिवनारायण को गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही वारदात में इस्तेमाल चाकू को भी बरामद कर लिया है। चंद्र प्रकाश ने बताया कि सूरज फर्नीचर की पालिश का काम करते थे, जिसमें वे भी उनका सहयोग करते थे। सूरज प्रकाश शादीशुदा थे और उनकी दो छोटी बेटियां भी हैं। इसके अलावा उनकी एक बहन भी हैं, जो स्नातक कर चुकी हैं। दोनों भाई बहन की शादी के प्रयासों में जुटे थे। उन्होंने बताया कि वे मूलत: गोरखपुर के बीसीयां गांव के निवासी हैं, हालांकि, लंबे समय से दिल्ली में ही रह रहे हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021