Move to Jagran APP

दिल्ली में VIP नंबर की दीवानगी, 0001 नंबर के लिए 23 लाख, 0009 के लिए लगी 11 लाख की बोली

Delhi VIP Number Plate दिल्ली में वीआईपी नंबरों को पाने की अलग ही दीवानगी रहती है। इसकी एक झलक हाल फिलहाल में देखने को मिल रही है। वीआईपी नंबर पाने के लिए लोग लाखों रुपये खर्च करने को तैयार हैं और कर भी रहे हैं। मार्च में वीवीआईपी नंबर - 0001 वाहन लाइसेंस प्लेट की नीलामी में 23.4 लाख रुपये की बोली लगी।

By sanjeev Gupta Edited By: Geetarjun Wed, 10 Jul 2024 12:53 AM (IST)
दिल्ली में VIP नंबर प्लेट की दीवानगी।

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। देश की राजधानी में लोग महंगी गाड़ियों के ही नहीं बल्कि वीआईपी नंबरों के भी खूब दीवाने हैं। लोग पसंदीदा नंबर लेने के लिए लाखों खर्च कर रहे हैं। बहुत बार तो देखा गया है कि लोग वाहन से भी ज्यादा खर्च वीआईपी नंबर लेने के लिए कर देते हैं।

जानकारी के अनुसार मार्च में वीवीआईपी नंबर - 0001 वाहन लाइसेंस प्लेट की नीलामी में 23.4 लाख रुपये की बोली लगी। इस राशि से दो प्रीमियम हैचबैक या एक अच्छी एसयूवी खरीदी जा सकती थी।

एक हास्पिटैलिटी फर्म ने 0001 नंबर प्लेट के लिए जून 2017 में 16 लाख का भुगतान किया, जो एक रिकार्ड है। इससे पहले यह रिकार्ड 12.5 लाख का था, सितंबर 2014 में भी इसी नंबर के लिए बोली लगी थी। जेम्स बांड और एम एस धोनी (जर्सी नंबर 7 और जन्मदिन 7 जुलाई) के साथ जुड़ाव के कारण 0007 पर भी ऊंची बोली लग रही है।

दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग के आंकड़ों से पता चला कि 0001 को मार्च में शानदार बोली लगी, जो इस साल जून तक सभी मासिक नीलामियों में सबसे अधिक है। 0009 जून में 11 लाख रुपये में बिककर सूची में दूसरे स्थान पर था जबकि 0007 ने जनवरी की नीलामी में 10.8 लाख रुपये कमाए।

गौरतलब है कि परिवहन विभाग हर सीरीज में 0001 से लेकर 9999 के बीच कई नंबर की वीवीआईपी नंबर के रुप में पहचान करती है। इन नंबरों को विभाग कई श्रेणियों में बांटते हैं और इसकी कीमत भी अलग-अलग ही होती है। हालांकि वीवीआईपी नंबर के वाहन पर कोई फायदा या छूट नहीं होती, यह केवल स्टेटस सिंबल की तरह है और इसीलिए लोग इसके लिए लाखों रुपये खर्च कर डालते हैं।