नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। बुध विहार थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति को फेसबुक पर विदेशी महिला से दोस्ती करीब सवा तीन लाख रुपये की पड़ी। कथित महिला ने उससे 3.15 लाख रुपये ठग लिए। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में एक विदेशी नागरिक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान मणिपुर की सुनीता कोसम, एंथनी डौंगिल व बरमुडा के नेल्सन के रूप में हुई है। आरोपितों के पास से तीन लाख रुपये नकद, 82 डेबिट कार्ड, बैंकों की 40 पासबुक, 28 मोबाइल आदि बरामद हुए हैं।

रोहिणी जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तायल ने बताया कि अगस्त में रोहिणी सेक्टर पांच के दिग्विजय ने फेसबुक पर एक कथित विदेशी महिला से दोस्ती की। उसने दिग्विजय को उपहार में कुछ कपड़े भेजने की बात कही। कुछ दिनों बाद दिग्विजय को एक महिला (कोरियर कर्मी) का फोन आता है कि उसका विदेश से कोरियर आया है। जिसकी कस्टम क्लीयरेंस के लिए उसे 36 हजार रुपये देने होंगे। उसने पैसे भेज दिए तो उस महिला ने फिर फोन कर कहा कि कोरियर में 45 हजार अमेरिकी डालर हैं। इसकी क्लीयरेंस के लिए उसे और रुपये देने पड़ेंगे। दिग्विजय ने उसकी बातों पर विश्वास कर उसे 3.15 लाख रुपये भेज दिए।

पुलिस को जांच के दौरान पता लगा कि जिन बैंक खातों में दिग्विजय ने पैसे भेजे हैं। उन खातों में 100 से ज्यादा लोगों ने उसी तरह करोड़ों रुपये भेजे हैं। जैसे ही पैसे खातों में आते थे आरोपित पैसे निकालकर गिरोह के मास्टर माइंड नाइजीरिया के रोनाल्ड कोनन और साइमन के बैंक के खातों में भेज देते थे। रोनाल्ड कोनन को मोहन गार्डन थाना पुलिस ने इलाके में दंगा करने के मामले में अक्टूबर में गिरफ्तार किया था, फिलहाल वह जेल में है। जबकि साइमन कुछ समय पहले भारत छोड़ चुका है। सुनीता कोसम रोनाल्ड कोनन की महिला मित्र है। वही अलग-अलग बैंक में खाता खुलवाती थी और खाते में पैसे आने के बाद उसे नाइजीरिया भेजती थी।

Edited By: Pradeep Chauhan