नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। Surya Grahan 2022 : वर्ष 2022 का दूसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण लग चुका है। यह अलग बात है कि दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे देश में 25 अक्टूबर को लगने वाला अंतिम सूर्य ग्रहण आंशिक तौर पर ही दिखाई दे रहा है। 

दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में आंशिक तौर पर दिखाई देगा सूर्य ग्रहण

हिंदू पंचांग के अनुसार, 25 अक्टूबर (मंगलवार) को लगने वाला सूर्य ग्रहण शाम 4:29 बजे शुरू होकर 5:42 बजे तक रहेगा। इस ग्रहण का प्रभाव अफ्रीका, अटलांटिका के साथ-साथ यूरोप और दक्षिणी/पश्चिमी एशिया में भी देखने मिलेगा। वहीं, दिल्ली-एनसीआर समेत देश के विभिन्न हिस्सा में इसका आंशिक तौर पर ही असर होगा और यह दिखाई भी आंशिक तौर पर ही देगा।

लगेगा सूतक काल

हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण दो तरह के होते हैं- सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण। ज्योतिषाचार्य माधव का कहना है कि शास्त्रों में ग्रहण लगना शुभ नहीं माना जाता है। पौराणिक ग्रंथों की मानें तो जब भी सूर्य या चंद्र ग्रहण लगता है तो, इन खगोलीय घटना का प्रभाव देश-दुनिया, प्रकृति के साथ-साथ बारह राशियों पर भी पड़ता है। सूर्य ग्रहण दिल्ली-एनसीआर समेत भारत में आंशिक तौर पर दिखाई देगा, इसलिए सूतक काल भी होगा।

दिल्ली-NCR में दिवाली की रात ही लग जाएगा एक खतरनाक 'ग्रहण' बच्चों-बुजर्गों को होगा बड़ा खतरा

Surya Grahan 2022: दिवाली के अगले सूर्यग्रहण, दिनभर रहेगा सूतक काल; गोवर्धन पूजा को लेकर जानें एक्सपर्ट की राय

तकरीबन सवा घंटे तक प्रभावी रहेगा सूर्य ग्रहण

अब साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर मंगलवार के दिन लगने वाला है। यह सूर्य ग्रहण भी आंशिक ही होगा। हिंदू पंचांग के अनुसार 25 अक्टूबर, मंगलवार को लगने वाला सूर्य ग्रहण शाम 4:29 बजे से 5:42 बजे तक रहेगा। यह सूर्य ग्रहण कुल 1 घंटे 13 मिनट तक प्रभावी रहेगा।

नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए ग्रहण

वैज्ञानिकों का ऐसा मानना है की सूर्यग्रहण को कभी भी नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए। ऐसा करने से आंखों पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है और कई बार तो आंखों की रोशनी भी जा सकती है। सूर्य ग्रहण को देखने लिए किसी विशेष सोलर एक्लिप्स वाले चश्मे का उपयोग करना चाहिए।

Edited By: Jp Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट