नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। एम्स के निदेशक डा. एम श्रीनिवास ने सख्ती शुरू कर दी है। इसी क्रम में उन्होंने बृहस्पतिवार को आदेश जारी कर एम्स के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को आदेश दिया है कि ड्यूटी पर मौजूद सुरक्षा गार्ड से सुरक्षा व मरीजों की सहायता के अलावा कोई अन्य काम न लिया जाए। ड्यूटी पर मौजूद सुरक्षा गार्ड से यदि चाय या खानपान का कोई अन्य सामान मंगाया जाता है तो संबंधित कार्यालय के प्रभारी व कैफेटेरिया के प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा यदि कोई सुरक्षा गार्ड ड्यूटी के दौरान चाय या कोई सामान ले जाते देखा गया तो उसे नौकरी से हटा दिया जाएगा। उन्होंने यह आदेश एम्स के कार्डियक न्यूरो सेंटर में निरीक्षण के बाद जारी किया है।

Delhi LG का भ्रष्टाचार के आरोप पर जवाब, खुद उठाते हैं खाने का खर्च, पत्नी भी नहीं करतीं सरकारी कार का इस्तेमाल

सुरक्षा विभाग के प्रभारी को दिया निर्देश

कार्डियक न्यूरो सेंटर के निरीक्षण के दौरान उन्होंने देखा कि ड्यूटी पर मौजूद एक महिला सुरक्षा कर्मी अस्पताल के कर्मचारी के लिए चाय लेकर जा रही थी। उसे अस्पताल के कर्मचारी ने ही चाय लाने का निर्देश दिया था। इसलिए अधिकारियों व कर्मचारियों को आदेश दिया है कि वे ड्यूटी पर मौजूद गार्ड चाय व खानपान की वस्तु न मंगाएं। उन्होंने एम्स के सुरक्षा विभाग के प्रभारी को निर्देश दिया है कि वे सुरक्षा कर्मियों से सुरक्षा और वार्ड से संबंधित ही काम लेना सुनिश्चित करें।

हर दिन करते हैं औचक निरीक्षण 

एम्स में निदेशक पद का कार्यभार संभालने के बाद ही डा. एम श्रीनिवास प्रतिदिन सुबह करीब छह बजे अस्पताल पहुंचकर विभिन्न वार्डों का निरीक्षण करते हैं। इसके बाद वह ओपीडी में पहुंचकर सुविधाओं का औचक निरीक्षण करते हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में इस तरह के कुछ और सख्त आदेश जारी हो सकते हैं।उल्लेखनीय है कि एम्स में निदेशक नियुक्त होने से पहले वह हैदराबाद स्थित कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआइसी) मेडिकल कालेज व अस्पताल में डीन थे। वहां भी उन्होंने कर्मचारियों की ड्यूटी को लेकर सख्ती की थी। कुछ वैसी ही पहल एम्स में करते दिख रहे हैं।

यमुना प्राधिकरण ने एटीएस व सुपरटेक बिल्डर के खिलाफ जारी किया 332.58 करोड़ का नोटिस

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट