नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। पढ़ने या सुनने में थोड़ी हैरानी भले ही हो, लेकिन उपराज्यपाल वीके सक्सेना की पत्नी संगीता सक्सेना सरकारी कार का इस्तेमाल नहीं करतीं। उन्हें कहीं जाना होता है तो वो गुजरात नंबर की मारुति कार से सफर करती हैं। कार खुद नहीं बल्कि ड्राइवर चलाता है एवं उसको भी निजी स्तर पर भुगतान किया जाता है।

राजनिवास में हुए चार माह पूरे  

वीके सक्सेना ने दिल्ली के उपराज्यपाल का पद 26 मई को संभाला था, यानी उनके कार्यकाल के चार माह पूरे हो चुके हैं। राजनिवास में वह और उनकी पत्नी ही रहते हैं। 30 हजार रुपये प्रतिमाह की दर से दोनों के खाने का बिल भी एलजी अपने वेतन से ही देते हैं। उनकी दो बेटियां हैं, एक अमेरिका और दूसरी मुंबई में रहती है। अमेरिका वाली बेटी तो अभी राजनिवास आई ही नहीं, मुंबई वाली बेटी आई थी और कुछ दिन रूकी थी तो उसके खाने का बिल भी अलग से दिया गया।

भ्रष्टाचार के आरोप पर हाई कोर्ट में दायर की याचिका

इस संबंध में कुछ जानकारी सक्सेना ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं द्वारा उन पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर हाई कोर्ट में दायर याचिका में भी दी है। राजनिवास से मिली जानकारी के मुताबिक उपराज्यपाल खादी के ही कपड़े पहनते हैं और वह भी अपने वेतन से ही खरीदते हैं। मालूम हो कि उनका वेतन 2.25 लाख रुपये महीना है।

बिजली और एसी का खर्च कम करने कोशिश

राजनिवास काफी बड़ा है और उसमें अनेक कमरे एवं हाल वगैरह हैं। लेकिन, सक्सेना का अधिकतम समय या तो आफिस या उनके निजी कक्ष या फिर विभिन्न कार्यक्रमों और आधिकारिक दौरों की वजह से राजनिवास के बाहर बीतता है। यहां उनकी कोशिश बिजली और एसी का खर्च बचाने की रहती है। हाई काेर्ट में दायर याचिका के मुताबिक जब सक्सेना खादी ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष थे, तब भी इन्हीं सिद्धांतों पर चलते थे।

बच्चों में हमेशा इंडिया फर्स्ट का भाव पैदा करना ही देशभक्ति करिकुलम का मकसद : अरविंद केजरीवाल

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट