नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। द्वारका जिले की स्पेशल टास्क फोर्स ने मुठभेड़ के बाद काला जठेड़ी व सचिन भांजा गिरोह के एक बदमाश को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। आरोपित की पहचान झाडौदा कलां निवासी राहुल उर्फ रोहित (22) के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक आरोपित के खिलाफ सेंधमारी, चोरी, लूट के 13 आपराधिक मामले दर्ज है।

पुलिस को आरोपित के पास से दो पिस्टल, तीन कारतूस, तीन खाली कारतूस व एक मोटरसाइकिल बरामद हुई है। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वे कर्मवीर शौकीन के साथ मिलकर आपराधिक वारदात को अंजाम देता था। मामले में पुलिस दिचाऊं कला के निवासी आरोपित कर्मवीर को दबोचने के लिए दबिश दे रही है।

द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने बताया कि कर्मवीर शौकीन बाबा हरिदास नगर थाने का नामी बदमाश है। उसके खिलाफ झपटमारी व लूट के 20 आपराधिक मामले दर्ज है। एएसआई अशोक को सूत्रों से सूचना मिली थी कि दोनों आराेपित झाडौदा गांव से गौशाला रोड होते हुए दिचाऊं कला की तरफ पांच से साढ़े पांच बजे के बीच मोटरसाइकिल पर हथियार के साथ जाएंगे। आरोपित किसी वारदात को अंजाम देने के फिराक में है।

सूचना के बाद इंस्पेक्टर पवन तोमर के नेतृत्व में दो टीमों का गठन किया गया। सूचना अनुसार टीम-1 ने आरोपितों को आगे से रोका, लेकिन आरोपितों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी और मौके से भागने में कामयाब हो गए। इसके बाद टीम-2 ने आरोपितों का रास्ता रोका पर आरोपितों ने उन पर भी फायरिंग की। गनीमत यह रही कि दोनों में से किसी भी टीम के पुलिसकर्मी को चोट नहीं लगी। इस दौरान अपनी सुरक्षा के लिए एएसआई अशोक ने बदमाशों पर सरकारी पिस्टल से एक राउड फायरिंग की, जो बदमाशों की मोटरसाइकिल पर लगी जिससे वे लड़खड़ाकर रोड पर गिर गए।

जिसके बाद मुस्तैदी दिखाते हुए पुलिस ने राहुल को दबाेचने लिया, जबकि कर्मवीर शौकीन मौके से भागने में कामयाब रहा। पूछताछ में आरोपित राहुल ने बताया कि कुछ दिनों पहले कर्मवीर की उनके एक पड़ोसी से झगड़ा हो गया था और पड़ोसी ने कर्मवीर की जमकर पिटाई कर उन्हें घायल कर दिया था। उस पड़ोसी से बदला लेने के लिए कर्मवीर ने उत्तर प्रदेश से अवैध हथियार मंगाए थे। पर वारदात को अंजाम देने से पूर्व पुलिस ने आरोपित को दबोच लिया।