नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उत्तराखंड के देहरादून में आरटीओ के घर डकैती डालने वाले दो बदमाशों को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। मई में दोनों ने पांच अन्य बदमाशों के साथ मिलकर आरटीओ के घर में गन प्वाइंट पर 1.50 करोड़ की डकैती डाली थी। रकम का लेखा-जोखा न होने के कारण आरटीओ ने स्थानीय थाने में महज पांच लाख रुपये लूटने की एफआइआर दर्ज कराई थी। बदमाशों के गिरफ्तार होने के बाद उनके बयान से पुलिस को सच्चाई का पता चला। वारदात में शामिल पांच अन्य बदमाशों को देहरादून पुलिस पिछले महीने उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों से गिरफ्तार कर चुकी है।

बदमाशों पर कई मामले दर्ज

डीसीपी क्राइम ब्रांच राजेश देव के मुताबिक गिरफ्तार किए गए बदमाशों के नाम मान सिंह व इलियास हैं। इनमें मान सिंह मूलरूप से सहारनपुर का रहने वाला है। उसके खिलाफ दिल्ली, उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश में लूटपाट, डकैती, हत्या, हत्या के प्रयास, आर्म्स एक्ट आदि के 28 मामले दर्ज हैं।

वारदात के बाद वह सीमापुरी में आकर रहने लगा था। लूट की रकम से उसे दस लाख रुपये मिले थे। जिसमें अधिकतर पैसे वह जुआ में हार गया। कुछ रुपयों से उसने ऑटो खरीदकर दिल्ली में चलाना शुरू किया था, इलियास मूलरूप से बिजनौर का रहने वाला है। उसके खिलाफ भी डकैती व लूटपाट के 14 मुकदमे दर्ज हैं। वारदात के बाद यह भी सीमापुरी में किराए पर घर लेकर छिप गया था। एसीपी मनोज पंत व इंस्पेक्टर सुरेंद्र की टीम ने शनिवार को दोनों को सीमापुरी इलाके से गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में दोनों ने बताया कि 27 मई की रात दोनों ने पांच अन्य बदमाशों के साथ मिलकर देहरादून में वहां के तत्कालीन आरटीओ के घर डकैती डाली थी। हथियार के बल पर बदमाशों ने आरटीओ व उनके परिवार के सभी सदस्यों को बंधक बना 1.50 करोड़ रुपये लूट लिए थे। वारदात में शामिल पांच बदमाशों ने पिछले महीने देहरादून में एक और डकैती की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस को सुराग मिलने पर देहरादून पुलिस ने सभी पांचों को गिरफ्तार कर लिया था।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप