Move to Jagran APP

Rahul Gandhi: राहुल गांधी के हिंदुओं पर दिए बयान पर नाराज संत समाज, दिल्ली में आज 'हिंदू शक्ति संगम'

कांग्रेस नेता और लोकसभा में नेता विपक्ष राहुल गांधी का संसद में दिया बयान धीरे -धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। भाजपा के बाद अब संत समाज ने भी कांग्रेस नेता के बयान की आलोचना की है। साधु-संतों द्वारा दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में आज हिंदू शक्ति संगम का आयोजन किया जा रहा है। इसमें हिंदू समाज के अलावा और भी कई समाज के संत शामिल होंगे।

By Nimish Hemant Edited By: Monu Kumar Jha Tue, 09 Jul 2024 01:52 PM (IST)
Rahul Gandhi: राहुल गांधी के हिंदुओं पर दिए बयान पर नाराज संत समाज, दिल्ली में आज 'हिंदू शक्ति संगम'
Delhi News: सनातन धर्म पर राजनीतिक हमलों से चिंतित संत समाज। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। सनातन धर्म पर सड़क व मंचों के बाद अब संसद से भी हमले से चिंतित संत समाज द्वारा कांस्टीट्यूशन क्लब में आज हिंदू शक्ति संगम का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें हिंदू धर्म पर हमलों के प्रति समाज को जागरूक करने के साथ ही हिंदू समाज में आई कुरीतियों पर भी चर्चा कर कार्ययोजना बनाई जाएगी।

आयोजन में कई समाज के लोग होंगे शामिल

इसमें, समाज के वाल्मीकि, रविदासी समेत अन्य तबके के संत शामिल होंगे तो बौद्ध, जैन, सिख व आर्य समाज के संत प्रतिनिधि भी अपना मार्गदर्शन देंगे। हिंदू शक्ति संगम को अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जीतेंद्रानन्द सरस्वती का मार्गदर्शन मिलेगा।

लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने हिंदुओं पर की थी टिप्पणी

इसमें, हाथरस में दुखद घटना को लेकर फर्जी बाबाओं के बढ़ते प्रभाव से समाज को बचाने की चर्चा होगी। वर्ण व्यवस्था के कारण बंटते हिंदू समाज को लेकर भी विमर्श होगा। हाल ही में कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष व लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने हिंदुओं को हिंसक और झूठा बताया था।

उसके बाद राम मंदिर आंदोलन को भाजपा का आंदोलन बताकर उसे इस चुनाव में हराने जैसे बयानों को संत समाज गहरे षड्यंत्र के तौर पर देख रहा है। इसके पहले, सनातन धर्म को डेंगू, मलेरिया बताने के साथ इसे खत्म करने की आवाज दक्षिण के नेताओं द्वारा कहीं जाती रही है। जो अब संसद तक पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें: Rahul Gandhi: 'राहुल गांधी को सेंस नहीं, वो हिंदुओं को...'; ये क्या बोल गए केंद्रीय राज्यमंत्री; सियासी पारा हाई!