नई दिल्ली, डिजिटल डेस्क। आज भारत अपना 74वां गणतंत्र दिवस 2023 मना रहा है। इस बार दिल्ली के कर्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस की परेड बेहद खास है। गणतंत्र दिवस की परेड में इस बार मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतेह अल सीसी मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हो रहे हैं।

कर्तव्य पथ पर परेड शुरू

दिल्ली के कर्तव्य पथ पर सुबह साढ़े दस बजे से लगभग डेढ़ घंटे तक देश की सैन्य, सांस्कृतिक, लोकतांत्रिक और राजनीतिक शक्ति की झांकी निकाली जा रही है। साथ ही परेड में सैन्य दस्ते में शामिल रहे हैं। इस बार परेड में पहली बार बीएसएफ ऊंट दस्ते की महिला टुकड़ी कदमताल करती नजर आएंगे। बता दें कि बीएसएफ का ऊंट दस्ता 1976 से गणतंत्र दिवस समारोह की परेड में हिस्सा ले रहा है।

परेड में VVIP कल्चर खत्म

गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। पहली बार ऐसा हुआ कि परेड में वीवीआईपी कल्चर को खत्म करके आम आदमी को तरजीह दी जा रही है। इस बार गणतंत्र दिवस की परेड के दौरान वीवीआईपी कल्चर को खत्म करते हुए मुख्य मंच के सामने पहली पंक्ति में रिक्शा चालक, छोटे पंसारी और सब्जी विक्रेता के लिए सीट निर्धारित की गई है।

पहली पंक्ति में मिली जगह

उनके लिए गणतंत्र दिवस परेड के दौरान मुख्य मंच के ठीक सामने पहली पंक्ति में जगह दी गई है। इसके अलावा श्रमजीवी, सेंट्रल विस्टा परियोजना के कर्मचारी, उनके परिवार और कर्तव्य पथ के रखरखाव कर्मचारियों को गणतंत्र दिवस परेड में विशेष निमंत्रण दिया गया है।

यह भी पढ़ें- Republic Day Parade: गणतंत्र दिवस परेड से जुड़े कुछ रोचक तथ्य, इसके लिए सैनिक करते हैं सैकड़ों घंटे प्रयास

परेड में 23 झांकियां शामिल

इस बार गणतंत्र दिवस परेड में कुल 23 झांकियां होंगी। इसमें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से 17 और विभिन्न मंत्रालयों और विभागों से छह, अधिकांश झांकियों की थीम के रूप में 'नारी शक्ति' के साथ भारत की जीवंत सांस्कृतिक विरासत, आर्थिक और सामाजिक प्रगति का चित्रण औपचारिक परेड का हिस्सा होगा।

यह भी पढ़ें- Republic Day 2023: हर साल 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस, जानें इसका इतिहास और महत्व

Edited By: Shyamji Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट