नई दिल्ली [संतोष शर्मा]। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गणतंत्र दिवस के दिन लाल किला पर हिंसा करने के मामले में दो आरोपितों को जम्मू से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ मिलकर जम्मू के सतबारी निवासी मोहिंदर सिंह खालसा और जम्मू के गोल गुजराल के रहने वाले मंदीप सिंह को दबोचा। पुलिस के अनुसार 26 जनवरी को लाल किला परिसर में हुई हिंसा में दोनों की अहम भूमिका थी। दोनों से पूछताछ कर पुलिस अब उनके साथियों की तलाश में जुट गई है।

मोहिंदर सिंह कश्मीर यूनाइटेड फ्रंट का अध्यक्ष है, जबकि मंदीप सिंह उसका सहयोगी है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नए कृषि कानून के विरोध में गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान जमकर हिंसा हुई थी। इस दौरान उपद्रवियों ने जगह-जगह उत्पात मचाया था। इस मामले में घटना की 1200 वीडियो और फुटेज की पुलिस जांच कर रही है। इसी दौरान पहचान होने पर टेक्निकल सर्विलांस से मोहिंदर सिंह और मंदीप सिंह को सोमवार को जम्मू से गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में पता चला कि इंटरनेट मीडिया पर भड़काऊ वीडियो देखकर दोनों ट्रैक्टर रैली में शामिल हुए थे। वहीं, लाल किले पर रोकने पर उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला भी किया था। फिलहाल पुलिस दोनों से पूछताछ कर उनके नेटवर्क का पता लगा रही है।

पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि हिंसा में उनके साथ और कौन से लोग शामिल थे। दिल्ली अधिकारी के मुताबिक दोनों लाल किले पर हुई हिंसा के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक हैं। दोनों ने हिंसा में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया था। लाल किला हिंसा मामले में इससे पहले पुलिस पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू को सहित तलवार भांजने वाले मनिंदर सिंह और गुंबद पर चढ़ने वाले जसप्रीत सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप