नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। देश-दुनिया में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जहां सतर्कता जारी है, वहीं दिल्ली एयरपोर्ट पर जांच के सख्त नियमों के चलते भारी भीड़ देखी जा रही है। इससे जुड़ी तस्वीरें भी वायरल हैं, जिसमें एयरपोर्ट यात्रियों का हुजूम उमड़ा हुआ है। ऐसे में कोरोना के ओमिक्रोन वायरस के संभावित विस्तार और खतरे के मद्देनजर यात्रियों की जांच के लिए दिल्ली एयर पोर्ट पर विशेष तरीका अपनाया जा रहा है। इसके तहत यात्रियों को कोरोना की जांच के लिए 2 विकल्प दिए गए हैं।

दरअसल, भारी भीड़ पर काबू पाने के लिए पालम स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विदेशी यात्रियों की जांच तेजी से की जा रही है, बावजूद इसके यहां पर अफरातफरी की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में एयरपोर्ट प्रशासन अब विदेश से लौटे यात्रियों को दो तरह के विकल्प मुहैया करा रहा है, जिसकी कीमत में 3000 तक का अंतर है। इनमें पहला रैपिड आरटीपीसीआर टेस्ट है, जिसकी रिपोर्ट सिर्फ 2 घंटे में आ जाती है और इसके लिए यात्रियों को 3500 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि लोग अपना समय बचाने के लिए रैपिड आरटीपीसीआर टेस्ट को प्राथमिकता दे रहे हैं। वहीं, दूसरे विकल्प के तौर पर 500 रुपये में टेस्ट किया जा रहा है, लेकिन इसके लिए 6-8 घंटे तक एयरपोर्ट पर इंतजार करना पड़ता है।

साधारण टेस्ट में करना पड़ रहा है 8 घंटे तक का इंतजार

गौरतलब है कि दिल्ली एयरपोर्ट पर रैपिड आरटीसीआर टेस्ट के अलावा, यात्रियों के पास एक और विकल्प भी है, जिसमें सिर्फ 500 रुपये अदा करने पड़ रहे हैं, लेकिन रिपोर्ट के लिए अधिकतम 8 घंटे तक का इंतजार करना पड़ रहा है। 12 से 24 घंटे तक का सफर तय करके दिल्ली एयरपोर्ट लौट रहे यात्री पहला विकल्प चुनने के लिए ही मजबूर हैं, जिसके लिए उन्हें 3500 रुपये देने पड़ रहे हैं।

उधर, दिल्ली एयर पोर्ट पर भीड़ पर काबू पाने के लिए विशेष तरीका अपनाने की तैयारी चल रही है। इसको लेकर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। बताया जा रहा है कि दिल्ली एयरपोर्ट पर यात्रियों की भारी भीड़ की तस्वीरें इंटरनेट मीडिया पर वायरल हैं। ऐसे में केंद्रीय मंत्री सिंधिया की ओर से बुलाई गई इस बैठक में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए विशेष योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने भी सोमवार को दिल्ली एयरपोर्ट का दौरकर यहां की स्थिति का जायजा लिया।

बताया जा रहा है कि तेजी से फैलने वाला कोरोना वायरस का नया वैरिएंट खतरनाक भी हो सकता है, क्योंकि इसकी चपेट में ज्यादा लोगों के आने के चलते अर्थ व्यवस्था भी प्रभावित हो सकती है। ऐसे में अभी से सतर्कता बरतनी जरूरी है।

Edited By: Jp Yadav