नई दिल्ली, जेएनएन। मुखर्जी नगर में एक बार फिर तनाब बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। मुखर्जी नगर थाने के बाहर बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग सड़कों पर जमा हो गए हैं। तनाव देख पूरे क्षेत्र में अर्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है। ग्रामीण सेवा चालक और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हुई थी। इस बीच समुदाय विशेष के चालक ने कृपाण निकाल ली और इसके बाद पुलिसवालों ने इकट्ठा होकर बीच रोड पर चालक और उसके बेटे की बेरहमी से पिटाई की थी। जिसके बाद से मुखर्जी नगर इलाके में बवाल मचा हुआ है। 

दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी  (aam aadmi party) सरकार के साथ कांग्रेस (Congress) ने भी दिल्ली पुलिस के बहाने केंद्र सरकार पर हमला बोला।  वहीं, पंजाब के सीएम अमरिंद सिंह ने ट्वीट कर अमित शाह से कार्रवाई की गुजारिश की। इधर गृह मंत्रालय ने इस पूरे मामले में पुलिस आयुक्‍त से रिपोर्ट मांगी है।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पूरे मुद्दे पर ट्वीट किया- 'दिल्ली पुलिस ने मुखर्जीनगर ने बर्बरतापूर्वक और निंदनीय कार्रवाई की है। मेरी मांग है कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो।'  

वहीं, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी पूरे मामले पर नाराजगी जताई थी। उन्होंने इस बाबत ट्वीट किया - 'दिल्ली पुलिस ने सरबजीत और बलवंत सिंह की बर्बरतापूर्वक पिटाई कर शर्मनाक कृत्य किया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से गुजारिश है कि इस मामले में उचित कार्रवाई कर पीड़ितों को न्याय दिलाएं।' 

गौरतलब है कि पिटाई की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था और इस घटना से गुस्साए लोगों ने रविवार शाम को इनर रिंग रोड को जाम कर दिया था और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। मामले में रविवार देर रात इलाके के डीसीपी ने तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। 

यहां पर बता दें कि रविवार शाम को दिल्ली के मुखर्जी नगर थाने के बाहर ग्रामीण सेवा चालक और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हुई। इस बीच समुदाय विशेष के चालक ने कृपाण निकाल ली और इसके बाद पुलिसवालों ने इकट्ठा होकर बीच रोड पर चालक और उसके बेटे की बेरहमी से पिटाई की। बताया जा रहा है कि करीब आधे घंटे तक मुखर्जी नगर मेन रोड पर चालक को पुलिस पीटती रही। इस दौरान चालक को कोई लाठी से मार रहा था, कोई डंडा से तो कोई लात घूसों से। वहीं, मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिसकर्मियों द्वारा चालक  और उसके बेटे की पिटाई का वीडियो बना लिया। यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

हंगामे की खबर पर गुरुद्वारा सिख प्रबंधक कमेटी से मनजिंदर सिंह सिरसा भी मौके पर पहुंचे और चालक की पिटाई और पग के अपमान के कारण पुलिसकर्मियों पर हत्या की कोशिश का मुकद्दमा दर्ज करने की मांग की। इसके बाद मामले को लेकर देर रात इलाके के डीसीपी ने तीन पुलिस वालों को निलंबित कर दिया।

जितेंद्र कोचर (प्रवक्ता, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी) ने कहा है कि मुखर्जी नगर थाने के बाहर हमारे एक भाई को जिस बेरहमी से दिल्ली पुलिस ने मारा है उनकी पिटाई की गई है, उसकी पूरी जांच होनी चाहिए ख़ाली दोषी अफ़सरों को निलंबित करने से काम नहीं चलेगा, उन लोगों को नौकरी से भी बर्खास्त भी किया जाना चाहिए। ऐसी ग़ैर ज़िम्मेदाराना हरकत करने वालों को कभी माफ नहीं किया जाना चाहिए। 

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav