नई दिल्ली, जागरण संवाददाता।  CAA Delhi Protest : नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (National Register of Citizens) और राष्ट्रीय जनगणना रजिस्टर (National Population Register) के विरोध में जंतर मंतर पर प्रदर्शन जारी है। वहीं, दिल्ली पुलिस ने जंतर मंतर पर धारा 144 लागू है। 

प्रदर्शन के दौरान सामाजिक कार्यकर्ता तपन बोस (Activist Tapan Bose) ने भारतीय सेना को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कोई दुश्मन  देश नहीं है। शासक वर्ग चाहे भारत का हो या पाकिस्तान का, एक जैसा है। हमारी सेन भी पाकिस्तानी सेना जैसी है। पाकिस्तानी सेना भी लोगों को मारती है और हमारी भी। दोनों में कोई अंतर नहीं है।

बता दें कि शाहीन बाग में प्रदर्शन के दौरान कई विवादित बयान सामने आ चुके हैं। इन्हीं में से एक शर जील इमाम को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पटना (बिहार) से गिरफ्तार किया है। 

शाहीन बाग में भाषणों पर नजर रखने को सुप्रीम कोर्ट में याचिका 

सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है जिसमें कालिंदी कुंज-शाहीन बाग मार्ग पर जारी विरोध प्रदर्शनों में राजनीतिक नेताओं और प्रमुख वक्ताओं के भाषणों की सामग्री और उनकी गतिविधियों पर सावधानी से नजर रखने के लिए अधिकारियों को निर्देश देने की मांग की गई है। ताकि केंद्र सरकार के खिलाफ फैल रही नफरत को रोका जा सके, खासतौर पर जो भारत के विभाजन की बात करते हैं।

यह याचिका अधिवक्ता अमित साहनी ने दाखिल की है। कालिंदी कुंज-शाहीन बाग मार्ग की बंदी के खिलाफ उन्होंने पहले से ही एक याचिका दाखिल कर रखी है। नई याचिका में साहनी ने जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के भड़काऊ भाषणों का भी जिक्र किया है जिस पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस