नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। देश की राजधानी दिल्ली में अगर आप घूमने का मन मना रहे तो एक बार प्रधानमंत्री संग्रहालय जरूर जाएं। यहां घूमने के लिए देश के साथ विदेशों से भी लोग घूमने के लिए आते हैं। इसमें आपको देश के सभी प्रधानमंत्री से जुड़ी जानकारियां और चीजें मिलेंगी, जो आपको कहीं न मिलेंगी। प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी इसी साल संग्रहालय का उद्घाटन किया था।

दिल्ली के तीन मूर्ति मार्ग पर 15,600 स्कावयर मीटर में 306 करोड़ की लागत से बना प्रधानमंत्री संग्रहालय देश के प्रधानमंत्रियों के नाम है और नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी (एनएमएमएल) का हिस्सा है। यहां पर सभी पीएम के बारे में जानना चाहेंगे तो एक दिन भी कम पड़ जाएगा।

22 अप्रैल 2022 को किया उद्घाटन

पीएम मोदी ने 22 अप्रैल को उद्घाटन के बाद ही सबसे पहला टिकट खरीदा था। संग्रहालय में देश की आजादी के बाद से बने भारतीय प्रधानमंत्रियों के योगदान के बारे में जान सकते हैं।

जानेंगे सभी पीएम के बारे में

आजादी के अमृत महोत्सव (स्वतंत्रता के 75 साल पूरे होने पर) के तहत इस संग्रहालय को देश के लिए सौंपा गया।

पहले इसे नेहरू म्यूजियम के नाम से जाना जाता था। जिसका नाम प्रधानमंत्री संग्रहालय कर दिया गया। इसका निर्माण 15,600 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में हुआ है। संग्रहालय में आप अब तक बने देश के 15 प्रधानमंत्रियों के बारे में जान सकेंगे।

ऐसे करें टिकट बुक

यहां का टिकट 90 रुपये है। जिसे आप ऑनलाइन (PM Sangrahalaya वेबसाइट पर) या संग्रहालय जाकर बुक कर सकते हैं। शाम को साढ़े चार बजे के बाद टिकट बुक होना बंद हो जाते हैं। यहां लास्ट एंट्री भी साढ़े 4 बजे तक होती है। संग्रहालय बंद होने का समय शाम 6 बजे हैं।

बिल्डिंग-1

स्वतंत्रता के समय भारत: ब्रिटिश विरासत (India at Independence: British Legacy)

रूम प्रोजेक्शन मैपिंग तकनीक के माध्यम से ब्रिटिश राज के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था और कृषि के पतन के बारे में जान सकेंगे।

संविधान के निर्माता (Makers of the Indian Constitution)

यह कमरा भारत की संविधान सभा और भारत के संविधान के निर्माण की कहानी को समर्पित है।

संविधान का निर्माण (Making of the Constitution)

संविधान कैसे बनाया गया और संविधआन सभा के बीच हुई दिलचस्पी बहसों के बारे में जानें।

जब भारत स्वतंत्र हो गया (India becomes Republic)

यहां आप भारत के संविधान की मूल प्रति को देख सकेंगे।

लोकतांत्रिक भारत (Democratic India)

यह आप भारत की संसद के कार्य के बारे में जान सकेंगे। साथ ही आप राजनीतिक लोकतंत्र की नींव को समझने में मदद मिलेगी।

संवैधनिक संशोधन (Constitutional Amendment)

यहां आप जान सकेंगे कि भारत का संविधान दशकों में कैसे विकसित हुआ।

1946 तक प्रारंभिक जीवन और राजनीतिक यात्रा (Early life and Political Journey till 1946)

यहां आप भारत के पहले प्रधानमंत्री नेहरू के जीवन और कार्यों के बारे में जान सकेंगे।

बंटवारा (Partition)

यहां आप भारत के बंटवारे के बारे में एक वीडियो के जरिए जान सकेंगे।

बेडरूम (Bedroom)

यहां आप पंडित नेहरू के सोने का कमरा देख सकेंगे।

बैठक (Sitting Room)

यहां आप पंडित नेहरू के सिटिंग रूम को देख सकेंगे।

स्टडी (Study)

यहां आप पंडित नेहरू के अध्ययन रूम को देख सकेंगे।

नेहरू गैलरी (Nehru Gallery)

नेहरू गैलरी में एक नव स्वतंत्र भारत और उसके बाद युद्ध के राजनीतिक विकास का समग्र दृष्टिकोण प्रस्तुत करता है। यह राज्यों के पुनर्गठन, कश्मीर युद्ध 1947-48, उन परियोजनाओं के बारे में बात करता है, जिन्हें पंडित नेहरू ने आधुनिक भारत का मंदिर कहा। साथ ही पहले चुनाव के बारे में भी जान सकेंगे।

ट्रिस्ट विद डेस्टिनी (Tryst with Destiny)

पंडित नेहरू का प्रसिद्ध 'ट्रिस्ट विद डेस्टिनी' भाषण जो उनके हाथों द्वारा लिखा गया था।

भारत चीन युद्ध (India China War)

यहां 1962 के युद्ध के दौरान हुई घटना की श्रंखला है। सीमा पर चीन के अचानक आक्रमण से लेकर, भारतीय रक्षा बलों द्वारा मजबूत धक्का-मुक्की के बाद एक तरफ युद्ध विराम की घोषणा तक।

तोशखाना जोन (Toshkhana Zone)

दुनियाभर के प्रसिद्ध लोगों द्वारा प्रधानमंत्रियों को उपहार में दी गईं कलाकृतियां और उपहार को देख सकेंगे।

बिल्डिंग-2

परिचय (Parichay)

परिचय में आप भारतीय प्रधानमंत्रियों के करियर के बारे में जान से जाएंगे।

स्वतंत्रता और एकता (Freedom and Unity)

यह कमरा महात्मा गांधी के नेतृत्व में स्वतंत्रता संग्राम, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और भारतीय राष्ट्रीय सेना की कहानी और सरदार बल्लभ भाई पटेल द्वारा प्राप्त राज्यों के एकीकरण की कहानी कहता है।

टाइम मशीन (Time Machine)

यहां आप वर्चुअल तरीके से बदलने भारत की तस्वीर देख सकते हैं। यहां आप भारत के अतीत को जान पाएंगे।

अनुभूति (Anubhuti)

यहां बहुत सारी खूबियां हैं। एंगेजमेंट जोन में सेल्फी विद पीएम, पीएम के साथ चहलकदमी, हैंडराइटिंग रोबोट, स्केच ऐप, मेमोरी वॉल, वर्चुअल हेलीकॉप्टर राइड सहित कई आकर्षण हैं।

लाल किले की प्राचीर से (Lal Quile ki Prachir Se)

प्रधानमंत्रियों द्वारा लाल किले से दिए गए भाषणों को जान सुन और देख सकेंगे।

भविष्य की झलकियां (Bhawishya ki Jhalkiyan)

आप यहां वर्चुअल तरीके से भारत के भविष्य को हेलीकॉप्टर की यात्रा के जरिए देख सकते हैं।

प्रधानमंत्रियों की गैलरी (Prime Ministers Galleries)

उसके बाद देश के सभी प्रधानमंत्रियों की गैलरिया हैं, जहां उनके संघर्ष, उपलब्धियों, उनके जीवन के बारे में जान सकेंगे।

सभी फोटो- पीएम संग्रहालय की वेबसाइट से

Edited By: Geetarjun

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट