नई दिल्ली,  जागरण संवाददाता। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दोपहर में जैसे ही दिल्ली में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की तो शराब की दुकानों के सामने लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग गई। दरअसल, वीकेंड लॉकडाउन के कारण शराब की दुकानें शनिवार व रविवार को बंद थीं। इस कारण भी बड़ी संख्या में लोग सोमवार को दुकानों पर शराब लेने पहुंचे थे। इसी बीच सीएम ने एक सप्ताह के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। इसके बाद तो लोग शराब लेने के लिए दुकानों पर लंबी-लंबी कतार लगाकर खड़े हो गए। कतार में खड़े कुछ लोगों ने तो मास्क भी नहीं पहना था और न ही वे शारीरिक दूरी का पालन कर रहे थे।

वहीं, ज्यादा भीड़ होने के कारण पुलिस ने गोविंदपुरी में शराब की दुकान बंद करवा दी। लाजपत नगर, ग्रेटर कैलाश, नेहरू प्लेस, साउथ एक्स, ईस्ट आफ कैलाश, हौजखास, ग्रीन पार्क समेत शराब की हर दुकान के सामने लंबी-लंबी कतारें लगी थीं। हाल यह था कि दुकानदार भी लाइन में लगे लोगों से शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करवाने में असमर्थ रहे।

कुछ जगहों पर पुलिस ने पहुंचकर शारीरिक दूरी का पालन करवाते हुए कतार लगवाई, लेकिन पुलिस के हटते ही फिर पहले जैसा हाल हो गया। कतार में लगा कोई व्यक्ति किसी को मास्क या शारीरिक दूरी के लिए टोकता भी तो वह लड़ाई-झगड़े पर उतारू हो जाते थे। ज्यादा भीड़ हो जाने के कारण पुलिस ने शराब की कुछ दुकानों को बंद भी करवाया। शराब की दुकानों पर इस भीड़ के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ने का भी खतरा है।

दरअसल, बुधवार (21 अप्रैल) को रामनवमी के चलते दिल्ली में ड्राइ डे है और फिर लॉकडाउन के कारण शराब की दुकानें बंद रहेंगीं। ऐसे में सोमवार दोपहर में जैसे ही सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन का एलान किया तो दिल्ली में शराब की दुकानों के बाहर जगह-जगह लंबी कतारें दिखीं।

शारीरिक नियमों की उड़ीं धज्जियां

दिल्ली के लाजपतनगर, लक्ष्मी नगर, जहांगीरपुरी समेत तमाम इलाकों में शराब की दुकानों बेतहाशा भीड़ जुटी हुई है। इस दौरान लाइन में लगने वाले शारीरिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते नजर आए।

इससे पहले पिछले साल जब दिल्ली में लंबे वक्त के बाद पिछले साल जब लॉकडाउन 3.0 में जनता को कई तरह की रियायत मिली थीं तो शराब की दुकानों के बाहर इसी तरह की भारी भीड़ नजर आई थी। इस दौरान दिल्ली में हालात इतने खराब हो गए थे कि कोई भी शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहा था, ऐसे में दिल्ली पुलिस को लाठी चार्ज के साथ शराब की दुकानों को बंद तक करवाना पड़ा था।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से की भावुक अपील, फिर बोले- 'मैं हूं ना'

दिल्ली में 25 से घटाकर 21 साल की गई शराब पीने की उम्र

बता दें कि पिछले दिनों दिल्ली सरकार ने एक्साइज पॉलिसी में बड़ा बदलाव किया है। अब दिल्ली में शराब की नई दुकानें खोली जाएंगी।  शराब खरीदने के लिए लीगल उम्र भी 21 साल होगी, हालांकि अभी तक यह नियम लागू नहीं हुआ है। मनीष सिसोदिया ने ये भी बताया था कि अब शराब की नई दुकानें नहीं खोली जाएंगी। इसका मतलब हुआ कि दिल्ली में जितनी शराब की दुकानें हैं, उतनी ही रहेंगी।

यहां पर बता दें कि राजधानी दिल्ली में अभी कुल 850 शराब की दुकानें हैं। इनमें से 60 फीसद सरकारी और 40 फीसद प्राइवेट हैं। दिल्ली के डिप्टी सीएम ने एलान किया है कि दिल्ली में कोई भी नई शराब की दुकान नहीं खुलेगी। इसके साथ ही सरकारी शराब की दुकानों को भी बंद कर दिया जाएगा। मौजूदा सरकारी शराब की दुकानों की नीलामी की जाएगी और इन्हें निजी हाथों में दिया जाएगा।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021