नई दिल्ली [संतोष शर्मा]। दिल्ली के पालम इलाके में स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के टर्मिनल-3 पर के फोरकोर्ट एरिया में स्थापित यूवी सेनिटाइजेशन टनल को पूर्व स्थान से हटाकर उन्हें बैगेज हैंडलिंग सिस्टम पर लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। यात्रियों की परेशानी के मद्देनजर टनल को स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया। पहले से लगीं आठ टनल को आगामी एक दो दिनों में नई जगह पर स्थापित कर दिया जाएगा। इस तब्दीली से यात्रियों को चेकइन बैगेज को सेनिटाइजेशन टनल में गुजारे जाने की जहमत अब नहीं उठानी पड़ेगी। चेकइन करते ही यात्रियों का सामान इस टनल से गुजरेगा और संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा।

दरअसल कोरोना संक्रमण शुरू होने पर हवाई यात्रा पर रोक लगा दी गई थी। अन लॉक शुरू होने पर 25 मई से दोबारा से सीमित रुट पर घरेलु उड़ानों का संचालन शुरू किया गया था। इस दौरान यात्रियों के सामान को वायरस के संक्रमण से बचाना एक प्रमुख मुद्दा था।

इसके मद्देनजर दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (Delhi International Airport Limited) ने आइजीआइ एयरपोर्ट पर यात्रियों के सामान को सेनेटाइज करने के लिए टर्मिनल-3 स्थित डिपार्चर के फोरकोर्ट एरिया में आठ यूवी सेनिटाइजेशन टनल स्थापित किए थे। चेकइन से पहले यात्री इसमें अपना चेकइन बैग डालते थे। इस टनल में पराबैगनी किरणों से चंद सेकंड में बैग संक्रमण मुक्त हो जाते थे। व्यस्त समय में इसके लिए यात्रियों को इंतजार करना पड़ता था। इसके मद्देनजर इन टनल को इनलाइन बैगेज हैंडलिंग सिस्टम में लगाने का निर्णय लिया गया।

डायल प्रवक्ता ने बताया कि टनल को नए स्थान पर लग जाने से यात्रियों को अब कतार में नहीं लगना पड़ेगा। स्वाचालित तरीके से चेकइन कराते ही बैग संक्रमण मुक्त हो जाएंगे।  

बता दें कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली एयर पोर्ट पर यात्रा सेवा स्थगित कर दी गई थी, हालांकि अब भी सेवाएं पूरी तरह सामान्य नहीं हो पाई हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस