नई दिल्ली/गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। सड़क मार्ग के जरिये सिर्फ 12 घंटे में दिल्ली से मुंबई का सफर जल्द ही साकार होने वाला है। कई हरियाणा, राजस्थान और गुजरात समेत राज्यों से गुजरने वाले दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे (Delhi-Mumbai Expressway) का निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है। इस बीच बृहस्पतिवार को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का जायजा लिया। उन्होंने यहां पर निर्माण को लेकर ताजा जानकारी भी ली।

इस मौके पर सोहना में अपने संबोधन के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने लंबे कार्यकाल के अनुभव भी वहां पर मौजूद अभियंताओं और पत्रकारों के साथ साझा किए। एक घटना का जिक्र करते हुए नितिन गडकरी ने बताया- 'जब मेरी नई-नई शादी हुई थी तो मेरे ससुर का घर सड़क के बीचोंबीच आ रहा था। जाहिर है यह बड़ी समस्या थी। लोगों को आवागमन सुलभ नहीं हो रहा था। ऐसे में इससे निजात पाना नितांत आवश्यक था।' इस समस्या के बारे में नितिन गडकरी ने अपने संबोधन के दौरान बताया कि पूरा मामला रामटेक का है और वह सड़क के बीच में घर की मौजूदगी के चलते धर्म संकट में पड़ गए थे। बावजूद इसके नितिन गडकरी ने अपना धर्म निभाते हुए पत्नी को बिना बताए ससुर के घर पर बुलडोजर चलवा दिया और सड़क बना दी। इसके बाद आम जनता का आवागमन सुलभ हो गया। 

95 हजार करोड़ रुपये से अधिक होगी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे की लागत

अपने संबोधन के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस के निर्माण की लागत 95 हजार करोड़  रुपये के आस पास आने वाली है।  एक्सप्रेस वे की खूबियों की जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि 21 किलोमीटर सिक्स लैंड ग्रीन फील्ड मार्ग जेवर एयरपोर्ट के लिए भी बनाया जा रहा है। हरियाणा में 6 जगहों पर सड़क किनारे लोगों को जन सुविधाएं मिलेगी। यह भी कहा कि इसके लिए स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी। नितिन गडकरी ने बताया कि 53000 करोड़ की 15 योजनाएं हैं, जिनमें से 14 पर काम शुरू हो गया है। इतना ही नहीं, इन सभी परियोजनाओं के काम में आने वाले समय में तेजी भी आएगी।

सुविधा के लिए चुकाना होगा शुल्क

नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार के पास पैसे जनता के माध्यम से ही आते हैं। वैसे भी सड़क पर आपको सारी सुविधाएं चाहिए तो उसके लिए टोल टैक्स तो देना ही होगा। नितिन गडकरी ने कहा कि शादियां तो खुले मैदान में भी हो जाती है, लेकिन उसके लिए भी पैसे खर्च करने होते हैं।

मिलेंगी हेलीकाप्टर एंबुलेंस सेवाएं

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हरियाणा में 6 जगहों पर सड़क किनारे जन-सुविधाएं मिलेंगी, जिससे स्थानीय उत्पादकों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसमें हेलीकाप्टर एंबुलेंस की सेवाएं भी दी जाएंगी। हम इसमें ड्रोन का उपयोग भी करेंगे, जो उद्योग और व्यवसाय के लिए उपयोगी होगा। 

जेवर एयरपोर्ट से भी जुड़ेगा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे

यूपी के लोगों को भी दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस-वे का लाभ मिल सके, इसकी भी तैयारी की जा रही है। नितिन गडकरी ने जानकारी दी है कि जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जाएगा, जिसमें करीब 2,100 करोड़ रुपए की लागत से 31 कि. मी. 6 लेन ग्रीनफील्ड मार्ग जेवर एयरपोर्ट के लिए बना रहे हैं।

Edited By: Jp Yadav