नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Murder in Tihar Jail: देश ही नहीं एशिया की भी अति सुरक्षित मानी जाने वाली तिहाड़ जेल में एक शख्स की हत्या का राज सामने आया तो जेल अधिकारियों के भी होश उड़ गए। पूछताछ में तिहाड़ जेल में बंद हत्यारोपित कैदी ने बताया कि  उसने अपनी बहन के साथ हुए दुष्कर्म का बदला लेने के लिए दूसरे कैदी की धारदार हथियार से हत्या कर दी। हत्यारोपित जाकिर ने पूछताछ में बताया कि वर्ष, 2014 में मेहताब नाम के शख्स ने उसकी बहन के साथ दुष्कर्म किया था। इस वारदात के बाद उसकी बहन इस कदर सदमा ग्रस्त थी कि बाद में उसने सुसाइड कर लिया, हालांकि पुलिस ने यह पुष्ट नहीं किया है कि पीड़िता ने आत्महत्या ही की थी। वहीं, जाकिर को जब इस पूरे मामले का पता चला वह अंदर तक हिल गया, इसके बाद उसने मेहताब से बदला लेने की ठान ली। वहीं, आरोपित मेहताब तिहाड़ जेल में चला गया था तो वहीं जाकिर बदले की आग में जल रहा था। 

रची मेहताब की हत्या की साजिश

पूछताछ में जाकिर ने बताया कि वह काफी समय से अपनी बहन के साथ दुष्कर्म और उसकी मौत का बदला लेने के लिए साजिश रच रहा था। आखिरकार 6 साल बाद उसे यह मौका मिला। आखिरकार 29 जून को जाकिर ने निजामुद्दीन निवासी मोहम्मद मेहताब की तिहाड़ जेल नंबर 8/9 में नुकीली हथियारनुमा चीज से हमला कर उसकी हत्या कर दी थी। जाकिर ने सोमवार सुबह मेहताब पर नुकीली चीज से कई वार किए, जिससे मेहताब की मौत हो गई। 

साजिश के तहत पहुंचा था जाकिर जेल

फिल्मी तर्ज पर जाकिर ने मेहताब की हत्या की साजिश रची। वर्ष, 2008 में हुए एक कत्ल के आरोप में वह बतौर आरोपित तिहाड़ में बंद है। साजिश के तहत वह जेल में बंद साथियों के साथ रोजाना झगड़े करता था। उसकी इस हरकद से आजिज आकर तिहाड़ प्रशासन ने पिछले दिनों जाकिर को जेल नंबर 8 के उसी वार्ड में शिफ्ट किया गया, जिस वार्ड के पहले तल पर मेहताब कैद था। इस बीच मौका पर जाकिर ने 29 जून की सुबह मेहताब पर नुकीली चीज से हमला बोल दिया, जिसके बाद बुरी तरह घायल मेहताब को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां पर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस