Move to Jagran APP

Monsoon Rain Forecast: इस बार मानसून में अच्छी होगी बारिश, लेकिन इन राज्यों में वर्षा कम; मौसम विभाग ने जारी किया पूर्वानुमान

इस वर्ष मानसून सामान्य रहेगा। इसलिए मानसून में वर्षा अच्छी होगी। यह किसानों के लिए अच्छी खबर हो सकती है लेकिन बिहार झारखंड ओडिशा और पश्चिम बंगाल में वर्षा कम होने की संभावना है। स्काईमेट ने मानसून का यह पूर्वानुमान जारी किया जिसमें कहा गया है कि इस बार जून से सितंबर के बीच चार माह मानसून के दौरान सामान्य से 102 प्रतिशत वर्षा होने की संभावना है।

By Ranbijay Kumar Singh Edited By: Geetarjun Published: Tue, 09 Apr 2024 08:23 PM (IST)Updated: Tue, 09 Apr 2024 08:23 PM (IST)
इस बार मानसून में अच्छी होगी बारिश, लेकिन इन राज्यों में वर्षा कम

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। Monsoon Rain Forecast Update: इस वर्ष मानसून सामान्य रहेगा। इसलिए मानसून में वर्षा अच्छी होगी। यह किसानों के लिए अच्छी खबर हो सकती है लेकिन बिहार, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में वर्षा कम होने की संभावना है।

स्काईमेट ने मानसून का यह पूर्वानुमान जारी किया, जिसमें कहा गया है कि इस बार जून से सितंबर के बीच चार माह मानसून के दौरान सामान्य से 102 प्रतिशत वर्षा होने की संभावना है।

ला नीना हो रहा मजबूत

स्काईमेट के प्रबंध निदेशक जतिन सिंह ने बताया कि अल नीनो कमजोर हो रहा है और ला नीना मजबूत हो रहा है। इसलिए इस वर्ष मानसून सामान्य रहने और दो प्रतिशत अधिक वर्षा होने की संभावना है। दक्षिण, पश्चिम और उत्तर पश्चिमी क्षेत्र में अच्छी वर्षा होगी।

जानिए कहां कमजोर रहेगा मानसून

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के प्रमुख मानसून वर्षा आधारित क्षेत्र में पर्याप्त वर्षा होने की संभावना है। जुलाई व अगस्त में जिस वक्त मानसून चरम पर होता है उस दौरान बिहार, झारखंड, ओडिशा व पश्चिम बंगाल में वर्षा कम होने की संभावना है। उत्तर पूर्वी राज्यों में मानसून के शुरुआती आधे सीजन में मानसून कमजोर रहने की संभावना है।

इसलिए मानसून अच्छी स्थिति में होगा

स्काईमेट के विशेषज्ञ महेश पलावत ने बताया कि ला नीना मजबूत होने से पूर्वी प्रशांत महासागर क्षेत्र में तापमान कम और पश्चिमी प्रशांत महासागर क्षेत्र में तापमान अधिक होता है। ऐसी स्थिति में भारत में मानसून में अच्छी वर्षा होती है।

इसलिए इस वर्ष मानसून सामान्य रहने का पूर्वानुमान लगाया गया है। पिछले वर्ष अल नीनो के कारण वर्षा सामान्य से छह प्रतिशत कम हुई थी। मानसून के दौरान चार महीने में देश में 868.6 मिलीमीटर वर्षा होती है। इस वर्ष 886 मिलीमीटर वर्षा होने की संभावना है।

कब कितने प्रतिशत बारिश की संभावना

जून के महीने में सामान्य से पांच प्रतिशत कम 95 प्रतिशत वर्षा होने का अनुमान है। जुलाई में सामान्य से 105 प्रतिशत, अगस्त में 98 प्रतिशत और सितंबर में 110 प्रतिशत वर्षा होने की संभावना है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.