नई दिल्ली [वी.के.शुक्ला]। साल भर में 1000 महिलाओं को कैब चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने सोमवार को महिला कैब चालकों के लिए यह प्रशिक्षण कार्यक्रम लांच किया। उन्होंने कहा कि कैब में इनकी मौजूदगी से दिल्ली में रहने वाली महिलाओं में सुरक्षा का अहसास बढ़ेगा।सराय काले खां स्थित इंस्टीट्यूट आफ ड्राइविंग एंड ट्रैफिक रिसर्च (आइडीटीआर) में आयोजित कार्यक्रम में 50 महिला कैब चालकों के प्रशिक्षण के साथ कार्यक्रम शुरू किया गया।

एलजी ने कहा कि महिला कैब चालकों को प्रशिक्षण दिया जाना महिला सशक्तिकरण को लेकर प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप है। महिलाओं की स्वतंत्रता तब तक पूरी नहीं हो सकती है, जब तक उन्हें आर्थिक स्वतंत्रता हासिल नहीं होती है।एलजी ने कहा कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम महिलाओं के लिए रोजगार के नए रास्ते खोलेगा और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने में भी मदद करेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले कुछ वर्षों में दिल्ली परिवहन क्षेत्र में 50 प्रतिशत तक महिला चालक होंगी।

50 महिला चालकों ने एग्रीगेटर ब्लू स्मार्ट की इलेक्टि्रक कारों के साथ इसकी शुरुआत की है। उपराज्यपाल ने कहा कि इलेक्टि्रक कारों से पर्यावरण की सुरक्षा भी होगी। इस मौके पर सांसद गौतम गंभीर, मुख्य सचिव नरेश कुमार मौजूद रहे। उपराज्यपाल ने लोगों को प्रधानमंत्री के विजन के अनुरूप पांच शपथ भी दिलवाई।

कोई शुल्क नहीं देना होगा: राजनिवास के मुताबिक, महिला चालकों को प्रशिक्षण के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। प्रशिक्षण आइडीटीआर की ओर से दिया जाएगा, जबकि इस पर आने वाला खर्च परिवहन विभाग व एग्रीगेटर कंपनी की ओर से आधा-आधा उठाया जाएगा। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद महिला चालक किसी भी एग्रीगेटर के साथ काम कर सकती हैं।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan