Move to Jagran APP

LG ने स्वीकार किया मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का इस्तीफा, राष्ट्रपति से की इस्तीफा मंजूर करने की सिफारिश

मनीष सिसोदिया को सुप्रमी कोर्ट से राहत न मिलने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्ताफी दे दिया जिसके सीएम केजरीवाल ने स्वीकार कर दिल्ली के उपराज्यपाल से इसको मंजूर करने की सिफारिश की थी। अब LG दोनों मंत्रियों का इस्तीफा मंजूर कर लिया है।

By Jagran NewsEdited By: Nitin YadavWed, 01 Mar 2023 11:33 AM (IST)
LG ने स्वीकार किया मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का इस्तीफा, राष्ट्रपति से की इस्तीफा मंजूर करने की सिफारिश
LG ने स्वीकार किया मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का इस्तीफा।

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार दिल्ली सरकार के मंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार देर शाम अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसको सीएम केजरीवाल ने कुछ देर बाद ही स्वीकार कर लिया था। अब जानकारी आ रही है कि सीएम के इस्तीफा स्वीकार करने के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने सीएम के अनुरोध पर राष्ट्रपति से इस्तीफा स्वीकार करने की सिफारिश की है। 

समाचार एजेंसी के ट्वीट के अनुसार, दिल्ली एलजी विनय सक्सेना ने 28 फरवरी को मंत्रियों मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन के इस्तीफे को स्वीकार करने के लिए दिल्ली के सीएम से अनुरोध पर राष्ट्रपति से सिफारिश की है कि उनके इस्तीफे स्वीकार किए जा सकते हैं।

आपको बता दें कि सीबीआई ने 8 घंटे लंबी पूछताछ के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री को गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद उन्हें सोमवार को राउज एवेन्यू अदालत के समक्ष पेश किया गया था, जहां से उन्हें 5 दिनों की रिमांड पर भेज दिया गया। 

मंगलवार देर शाम हुई इस्तीफे की घोषणा

वहीं, उन्होंने मंगलवार को सीबीआई की गिरफ्तारी को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जहां दो जजों की बेंच मामले पर अनुछेद 32 का हवाला देते हुए मामले में दखल देने से मना कर दिया और सिसोदिया को निचली अदालत और दिल्ली हाईकोर्ट जाने की सलाह दी। इसके बाद सिसोदिया ने देर शाम अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

वहीं, अब उनके इस्तीफे की काफी को देखकर कुछ सवाल खड़े हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि मनीष सिसोदिया के त्याग-पत्र पर तारीख नहीं है और सत्येंद्र जैन के इस्तीफे पर 27 फरवरी की तारीख है, लेकिन दोनों इस्तीफे 28 तारीख को एलजी के पास स्वीकृति के लिए भेजे गए थे। सिसोदिया ने पहले ही इस्तीफा दे दिया था।

इस्तीफे पर खड़े हुए सवाल

एक लेटर के सामने आने के बाद अब सवाल खड़े हो रहे हैं कि  क्या सीबीआई द्वारा पूछताछ और गिरफ्तार किए जाने से पहले उन्होंने पत्र पर हस्ताक्षर किए थे? क्या सत्येंद्र जैन का सादा और हस्तलिखित इस्तीफा उसके बाद लिया गया?