नई दिल्ली, जेएनएन। Letter bomb hits Delhi Congress: दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (delhi assembly election 2020) से कुछ महीने पहले प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित (Sheila Dikshit Former Chief Minister of Delhi) के पुत्र और पूर्व सांसद संदीप दीक्षित (Former member of parliament Sandeep Dikshit) द्वारा प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ( congress in charge in Delhi PC Chacko) को लिखे शीला दीक्षित की मौत को लेकर लिखे गए पत्र से पार्टी के अंदर घमासान शुरू हो गया है। 

बताा जा रहा है कि पीसी चाको ने उस पत्र को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (congress president Sonia Gandhi) को भेज दिया था। वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष ने पार्टी की अनुशासनात्मक समिति को पत्र सौंप दिया है। अब अनुशासनात्मक समिति इस मामले में कोई फैसला लेगी।

दूसरी ओर शीला दीक्षित सरकार में मंत्री रहे कई कांग्रेस नेताओं ने भी पीसी चाको पर निशाना साधा है। दिल्ली में कांग्रेस की बदहाली के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराते हुए पद से हटाने की मांग की है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष से पूर्व मुख्यमंत्री की मौत की जांच कराने की भी मांग की है।

पत्र को लेकर दैनिक जागरण में शुक्रवार को खबर प्रकाशित होने के बाद पूर्व मंत्रियों व कई नेताओं ने संयुक्त प्रेस वार्ता करके प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पर पार्टी को कमजोर करने का आरोप लगाया। पूर्व मंत्री रमाकांत गोस्वामी, मंगत राम सिंघल, किरण वालिया ने प्रदेश प्रभारी पर पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित को कांग्रेस को मजबूत करने से रोका गया, जिससे वह परेशान थीं। प्रदेश प्रवक्ता जितेंद्र कोचर ने कहा कि शीला ने सोनिया गांधी को पत्र भी लिखा था जिसे समय आने पर सार्वजनिक किया जाएगा। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि संदीप दीक्षित का पत्र सार्वजनिक करना गलत है। पूर्व मुख्यमंत्री की मौत की जांच होनी चाहिए। निष्पक्ष जांच और पार्टी के हित में प्रदेश प्रभारी को उनके पद से हटाना जरूरी है। इस मौके पर पार्टी के प्रवक्ता रोहित मनचंदा भी मौजूद थे।

मैं व्यक्तिगत पत्र लिखा, कैसे लीक हुआ मुझे नहीं पता : संदीप दीक्षित

संदीप दीक्षित (पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पुत्र व पूर्व सांसद) का कहना है कि दिल्ली कांग्रेस से मेरा कोई लेना देना नहीं है। दिल्ली की राजनीति से मैं बाहर हूं और मेरा यहां कोई समर्थक नहीं है। मैंने पीसी चाको को व्यक्तिगत पत्र लिखा है। पत्र कैसे सार्वजनिक हुआ इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। 

पीसी चाको ने पत्र पर बोलने से किया इनकार

वहीं, पीसी चाको (दिल्ली प्रदेश कांग्रेस प्रभारी) ने कहा है कि संदीप दीक्षित ने मुझे पत्र भेजा था जिसमें राजनीतिक बातें थीं, इसलिए उसे कांग्रेस अध्यक्ष के पास भेज दिया। पत्र में क्या लिखा गया है इस बारे में मैं कुछ नहीं बोल सकता हूं।

यहां पर बता दें कि दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित के बेटे और दिल्ली के पूर्व सांसद संदीप दीक्षित ने कांग्रेस कांग्रेस प्रभारी को पिछले दिनों एक खत लिखा। इसमें उन्होंने पीसी चाको पर अपनी मां शीला दीक्षित की मौत को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। खत में लिखा गया है कि उनकी मां की मौत के लिए पीसी चाको जिम्मेदार हैं। खत के मुताबिक, पीसी चाको के मानसिक उत्पीड़न की वजह से उनकी मां शीला दीक्षित का निधन हुआ है। यह भी कहा जा रहा है कि संदीप ने यह भी लिखा है कि या तो पीसी चाको माफी मांगे या फिर कानूनी कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

आखिर क्यों सोनिया गांधी ने कीर्ति आजाद को बनाया दिल्ली कांग्रेस चीफ ! यहां पढ़ें- पूरा खुलासा

दिल्ली-NCR के लाखों CNG वाहन चालकों को झटका, ODD Even में नहीं मिलेगी छूट !

यहां जानें- Rapid Rail प्रोजेक्ट से जुड़ी हर बात, कई विभागों से मिली NOC के बाद काम तेज

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप