नई दिल्ली, [राकेश कुमार सिंह]। शातिर गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी की तलाश में स्पेशल सेल की 30 सदस्यीय टीम ने छह माह में नौ राज्यों की खाक छानी। इन सभी राज्यों में उसकी गर्लफ्रैंड अनुराधा भी उसके साथ ही रही और हर बार दोनों पुलिस को चकमा देकर पहले ही फरार हो जाते थे। यही नहीं पकड़े जाने से पहले तीन बार तो पुलिस के पहुंचने से कुछ ही देर पहले उसने ठिकाने को छोड़ दिया था।

हालांकि, इस बार उसे सहारनपुर के यमुनानगर हाइवे स्थित अमानत ढाबे से गर्लफ्रेंड अनुराधा के साथ दबोच लिया गया। जठेड़ी के पास से उसकी पसंदीदा चाइनीज पिस्टल और अनुराधा के पास से किसी अन्य के नाम की लाइसेंसी रिवाल्वर बरामद हुई।जठेड़ी पर दिल्ली में 15 मामले दर्ज हैं जबकि पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, यूपी समेत अन्य राज्यों में 50 से अधिक मामले दर्ज हैं। अनुराधा पर राजस्थान में 14 मामले दर्ज हैं।

स्पेशल सेल ने ऐसे बिछाया जाल

तिहाड़ जेल में बंद 600 शूटरों की फौज वाले गैंगस्टर बिश्नोई को मकोका में गिरफ्तार करने के बाद सेल की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट ने जब उसे रिमांड पर लेकर जठेड़ी के बारे में पूछताछ की थी, लेकिन उसने कुछ नहीं बताया। इस पर विश्नोई की 20 दिन की रिमांड खत्म होने के बाद उसे तिहाड़ भेज दिया गया। यहां उसे एक मोबाइल उपलब्ध करा दिया गया। उम्मीद के मुताबिक विश्नोई ने मोबाइल मिलते ही गिरोह के सदस्यों से बात करनी शुरू कर दी। इस बीच उसने जठेड़ी के बेहद करीबी के जरिये उससे बात की तब जाकर पता चला कि जठेड़ी उत्तराखंड में छिपा हुआ है।

स्पेशल सेल ने एक महीने तक बिश्नोई के फोन काल्स पर नजर रखी। बदल लिया था हुलिया 15 दिनों तक पीछा करने के दौरान कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में वह अनुराधा के साथ नजर आया। इसके साथ ही उसने अपना हुलिया पूरी तरह से बदल लिया था। इस बीच उनसे तीन गाडि़यां बदली। शुक्रवार को वह क्रेटा से ढाबे पर पहुंचा था। स्पेशल सेल की 30 सदस्यीय टीम लगातार उसका पीछा कर रही थी। टीम ने नौ राज्यों में करीब दस हजार किमी का सफर तय किया। इस बीच वह गोवा, गुजरात, मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड में छिपता रहा।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari