नई दिल्ली, जागरण संवादादाता। पश्चिमी दिल्ली के हरिनगर थाना क्षेत्र में 31 जुलाई को दिनदहाड़े मिठाई की दुकान के सामने गोली चलाकर कारोबारी को धमकाने के मामले में पश्चिमी जिला पुलिस ने कौशल गिरोह के पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बदमाशों ने गोली चलाने के बाद कारोबारी को पर्ची थमाई थी, जिसपर रंगदारी के तौर पर एक करोड़ रुपये की मांग की गई थी। गिरफ्तार आरोपितों में हरियाणा के रोहतक निवासी प्रमोद, नवीन, सोनीपत निवासी अनु मलिक, गुरुग्राम निवासी आशु व अमित शामिल हैं। आरोपित नवीन पर हरियाणा के विभिन्न थानों में 16 मामले दर्ज हैं।

पुलिस के अनुसार यह पूरी साजिश हरियाणा के हिसार जेल बंद बदमाश कौशल के कहने पर रचा गया। बाद में भोंडसी जेल में बंद बदमाश नवीन व आशु ने अपने गुर्गों से वारदात को अंजाम दिलाया। पुलिस के अनुसार राजौरी गार्डन सबडिवीजन के एसीपी राम सिंह की देखरेख में गठित पुलिस टीम ने इस मामले की छानबीन शुरू की। टीम ने छानबीन के दौरान करीब सौ लोग से पूछताछ की ताकि आरोपितों व उसके द्वारा इस्तेमाल की गई मोटरसाइकिल के बारे में जानकारी जुटाई जा सके। कोशिश करते करते पुलिस ने मोटरसाइकिल के रंग व नंबर प्लेट के कुछ अंकों का पता कर लिया।

इन जानकारियों के आधार पर शुरू हुई तफ्तीश करते करते पुलिस आरोपितों तक पहुंच गई। इस बीच पुलिस को एक मोबाइल नंबर के बारे में पता चला जिससे बदमाशों को निर्देश दिए गए थे। इस नंबर का इस्तेमाल जेल में बंद बदमाश बाहर मौजूद अपने गुर्गों को निर्देश देने के लिए करते थे। यह निर्देश वाट्सएप कॉल के माध्यम से दिया जाता था। पुलिस के अनुसार आरोपितों से पता चला कि यह पूरी साजिश कौशल ने ही रची थी। कौशल इन दिनों हरियाणा के हिसार जेल में बंद है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस