Move to Jagran APP

Kisan Andolan: पढ़िए सिंधु बार्डर पर किसान की हत्या के मामले में क्या बोले कुमार विश्वास और गृह मंत्रालय से क्या की अपील?

Kisan Andolan और तो और शव के साथ ही युवक का कटा हुआ हाथ भी लटका दिया गया था। कुंडली थाना पुलिस को जब इस तरह की सूचना मिली तो वो अपने लाव लश्कर के साथ मौके पर पहुंची। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को शव के पास नहीं जाने दिया।

By Vinay Kumar TiwariEdited By: Published: Fri, 15 Oct 2021 12:32 PM (IST)Updated: Fri, 15 Oct 2021 12:32 PM (IST)
किसान की हत्या के मामले में कवि कुमार विश्वास ने किसान नेताओं और सरकार से अपील की।

नई दिल्ली, विनय तिवारी। Kisan Andolan: कृषि कानून विरोधी आंदोलन स्थल पर समय-समय पर कुछ न कुछ ऐसा हो जाता है जिसकी वजह से वो फिर से चर्चा में आ जाता है। शुक्रवार को सिंधु बार्डर धरना स्थल एक बार फिर से चर्चा में आ गया, इस बार चर्चा का कारण एक युवक की हाथ काटकर नृशंस करने की वजह थी। हत्या के बाद युवक के लहूलुहान शव को आंदोलन के मुख्य मंच से करीब सौ मीटर दूर एक पुलिस बैरिकेड पर लटका दिया गया।

और तो और शव के साथ ही युवक का कटा हुआ हाथ भी लटका दिया गया था। कुंडली थाना पुलिस को जब इस तरह की सूचना मिली तो वो अपने लाव लश्कर के साथ मौके पर पहुंची। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को शव के पास नहीं जाने दिया।वहां पुलिस की पूछताछ में किसी ने भी युवक की हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली। कुछ समय के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के नेता के पहुंचने पर प्रदर्शनकारी शांत हुए। इस युवक की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हुई। डीएसपी हंसराज ने बताया कि अज्ञात पर युवक की हत्या के आरोप में मामला दर्ज कर लिया है।

हत्या की इस वारदात के बारे में पता चलने पर जाने-माने कवि कुमार विश्वास ने भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। अपने इंटरनेट मीडिया के ट्विटर एकाउंट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह हत्या नहीं, भीड़ की उन्मादी मानसिकता द्वारा भारत के क़ानून व संविधान को चुनौती है।हत्यारे किसी धर्म के हों उन्हें भारत के आंतरिक अनुशासन की ताक़त का अनुभव कराइए, @HMOIndia देश को भीड़ में बदलने से रोकिए।आंदोलन की पवित्रता बचाए रखना आंदोलनकारियों व उनके नेताओं की ज़िम्मेदारी है

अपने इस ट्वीट में उन्होंने गृह मंत्रालय को टैग करते हुए लिखा है कि देश को भीड़ में बदलने से रोकिए। साथ ही उन नेताओं से भी अपील की कि वो आंदोलन की पवित्रता को बचाए रखना उनका काम है। आंदोलन की पवित्रता बचाए रखना आंदोलनकारियों व उनके नेताओं की जिम्मेदारी है।

वीडियो हो रहे वायरल

सुबह युवक की हत्या के बाद विभिन्न वाट्सएप ग्रुपों पर कई वीडियो वायरल हुए। इन वीडियों में युवक की हत्या का आरोप निहंगों पर लग रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि हमले के बाद हाथ कटा युवक मौके पर तड़प रहा है और उसके चारों ओर निहंग खड़े हैं। निहंग युवक से पूछताछ कर रहे हैं लेकिन वो कुछ भी नहीं बता पा रहा।

ये भी पढ़ें- Indian Railway: छपरा या गोरखपुर जाना है तो पूजा स्पेशल ट्रेनों में कराएं टिकट, जानिए कब से चलेंगी और क्या होगा समय?

ये भी पढ़ें- कुंडली बार्डर पर कथित प्रदर्शनकारियों की मनमानी के आगे कानून व्यवस्था बन रही चुनौती, जानिए क्या-क्या हो चुकीं वारदातें


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.