नई दिल्ली/ सोनीपत, [डीपी आर्य]। काला जठेड़ी के फेसबुक पेज पर 17 जुलाई को डाली गई पोस्ट इशारा कर रही है कि उसको अपने पकड़े जाने का अंदेशा दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच से ही था। इसके साथ ही वह जानता था कि पुलिस उसको हरियाणा और दिल्ली में तलाश करेगी, ऐसे में वह डर लगने की बात कह रहा है। काला जठेड़ी का फेसबुक पेज उसकी आपराधिक महत्वाकांक्षा को भी दर्शाता है। इसके साथ ही वह बेखौफ तरीके से अपने किए अपराध की स्वीकारोक्ति के साथ ही अपनी पेशी और गिरफ्तारी का वीडियो भी फेसबुक पर पोस्ट करता था।

12वीं पास काला जठेड़ी ने अपना फेसबुक पेज बनाया हुआ था। जेल से बाहर रहने के दौरान वह खुद इसको आपरेट भी करता था। उसके साथी गिरफ्तारी और न्यायालय में पेशी का वीडियो बनाकर फेसबुक पर डाल देते थे। उसके साथ ही वह अपनी पोस्ट भी अक्सर अपडेट करता रहता था। ऐसी ही एक पोस्ट 17 जुलाई को डाली है। उसमें लिखा है कि डर लगता है मुझे अब अपने ही शहर से, क्या पता क्राइम ब्रांच (दिल्ली पुलिस) की डायरी में अगला नाम मेरा भी हो। वह खुद को लेकर दिल्ली पुलिस से बेहद डरा हुआ हुआ था।

हालांकि, उसके बाद 22 जुलाई को वह चेतावनी भरे अंदाज में पोस्ट डालता है। उसने लिखा है- सीधा सादा दिखता हूं, मेरा रोल बदल जाएगा, जिस दिन मैं जिद पर आ गया माहौल बदल जाएगा..। इस पोस्ट को ज्यादा शेयर करने की अपील भी की गई है। उसके फेसबुक पेज पर एक पोस्ट में लिखा है, तबाह कर दी जागी वो जिंदगी, जो म्हारे रास्ते में तकलीफ देगी। उसकी कई पोस्ट विवादित हैं। वह 11 जुलाई की पोस्ट में अवैध हथियारों की बिक्री को लेकर एक नंबर भी जारी करता है। वह खुद को अपराध जगत का सिरमौर बनाने को प्रयासरत था। इसी भाव से उसने एक जुलाई को पोस्ट डाली थी, जिसमें लिखा है कि जंगल के सूखे पत्ते की तरह हैं हम, जिस दिन जलेंगे पूरा जंगल जला देंगे। वह अपने अपराध करने के तरीकों को लेकर भी कई पोस्ट करता रहा है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari