नई दिल्ली, जेएनएन/एएनआइ। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआइ ने बताया कि क्राइम ब्रांच ने जामिया के दस छात्रों को नोटिस जारी कर आज पूछताछ के लिए बुलाया है। ये सभी छात्र सीसीटीवी में दिखे थे।

उधर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया की लाइब्रेरी की लीक हुए सभी नौ वीडियो की क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू कर दी है। क्राइम ब्रांच को शक है कि वीडियो में स्थानीय युवकों के साथ वर्तमान व पूर्व छात्र भी शामिल हैं। उन सभी की पहचान करने की कोशिश की जा रही है़। माना जा रहा है कि निश्चित तौर पर जामिया के पदाधिकारियों ने ही जामिया समन्वय समिति द्वारा वीडियो लीक कराया है।

जब वीडियो लीक हो गए तब जामिया ने सोमवार को सफाई देना शुरू किया कि विश्वविद्यालय का इसमें कोई लेना देना नहीं है। उक्त समिति जामिया के पूर्व छात्रों का संगठन है। क्राइम ब्रांच को जामिया की सफाई बिल्कुल हजम नहीं हो रही है। हालांकि जहां से भी वीडियो लीक हुए हैं क्राइम ब्रांच उनके तह तक जाकर ही दम लेगी।

जांच में पता चला है कि वीडियो को जांच प्रभावित करने के लिए अपलोड किया गया था। मंगलवार को क्राइम ब्रांच ने जामिया पहुंचकर वीडियो में देखे गए संदिग्धों के बारे में पूछताछ की। पुलिस का कहना है कि वीडियो केस के अहम सुबूत का हिस्सा है।

जांच हो सकती है प्रभावित

अधिकारियों का कहना है कि उन सुरक्षाकर्मियों की भी पहचान की जा रही है जो छात्रों व अन्य को बेंत से मारते हुए दिख रहे हैं। लेकिन जांच से पहले गोपनीय वीडियो लीक कर देने से जांच प्रभावित हो सकती है।

पुलिस को ये है शक

पुलिस को शक है कि जिन दंगाइयों ने डीटीसी बसों में आग लगाई थी और मथुरा रोड पर निजी कारों पर पथराव किया था। वे घटना से पहले शाम को छात्रों के साथ घुलमिल गए थे और भीड़ में घुस गए थे।

घायल छात्र ने मुआवजे के लिए दायर की याचिका

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) जामिया मिल्लिया इस्लामिया (जेएमआइ) हिंसा में घायल छात्र ने याचिका दायर कर एक करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की है। याचिकाकर्ता मोहम्मद मुस्तफा ने पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश देने की भी मांग की। अधिवक्ता नबीला हसन के माध्यम से दायर याचिका में छात्र ने कहा कि इलाज में खर्च हुई धनराशि उसे दी जाए। इससे पहले छात्र शायान मुजीब और मोहम्मद मिन्हाजुद्दीन ने याचिका दायर कर मुआवजे की मांग की थी।

 य़े भी पढ़ेंः Uphaar Cinema Fire Tragedy Case: अंसल बंधुओं को राहत, SC ने खारिज की पीड़ितों की क्यूरेटिव पिटीशन

Nirbhaya Case: तिहाड़ में जेल की दीवार पर निर्भया के दोषी विनय ने पटका सिर

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस