नई दिल्ली [अंकुर अग्निहोत्री]। दिल्ली में जमाती सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। सुल्तानपुरी स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए जमातियों ने बुधवार को हंगामा कर दिया। स्वास्थ्य विभाग ने मामले की सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने जमातियों को शांत कराया। 

बताया जा रहा है कि क्वारंटाइन सेंटर में 199 जमाती रखे गए हैं। इनमें से एक जमाती की तबीयत बुधवार को  बिगड़ गई। गंभीर हालत में जमाती को लोक नायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके बाद क्वारंटाइन सेंटर में मौजूद जमातियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।

कैट्स की एक महिला कर्मचारी घायल

उधर, LNJP हॉस्पिटल में कोरोना के मरीज को भर्ती के करने के दौरान अस्पताल के गार्ड्स और कैट्स एम्बुलेंस कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया। बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से हाथापाई भी हुई जिनमें कैट्स की एक महिला कर्मचारी को चोटें भी आई हैं। मरीज को राम मनोहर लोहिया अस्पताल से एलएनजेपी अस्पताल में ले आया गया है।

लोगों पर थूक रहे थे जमाती

इससे पहले हजरत निजामुद्दी स्थित तब्लीगी मरकज जमात से निकालकर क्वांरटाइन सेंटर ले जाने के दौरान कई जमातियों ने न सिर्फ स्वास्थ्य कर्मियों के साथ अभद्रता की थी बल्कि वहां मौजूद अन्य लोगों के ऊपर थूकने लगे। ऐसे कोरोना संक्रमण के डर से लोगों में दहशत फैल गई थी। बताया जाता है कि जमातियों ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और मीडियाकर्मियों के बदसलूकी की और उन्हें देखकर इधर-उधर थूकने भी लगे। जब बस की खिड़की बंद करने का प्रयास किया गया तो लोगों पर जमाती थूकने लगे।

गाजियाबाद में नर्सों के साथ अभद्रता

इसके अलावा दिल्ली से सटे गाजियाबाद के एमएसजी अस्पताल में भर्ती जमातियों ने महिला स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदतमीजी की थी और बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी थी। अस्पताल प्रशासन की तरफ से पुलिस को दी गई शिकायत के अनुसार, नर्स जैसे ही वार्ड में पहुंचती थीं वैसे ही जमाती कपड़े बदलने लगते थे। बिना पायजामा वार्ड में घूमने लगते थे। यहीं नहीं फोन पर अश्लील गाने सुनने लगते थे और धूम्रपान की चीजें मांगने लगते थे। अस्पताल प्रशासन की शिकायत पर पुलिस ने मामला भी दर्ज किया था।

बता दें कि दिल्ली समेत पूरे देश में जमातियों की वजह से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली में कोरोना के कुल 2156 मामले में से आधे से ज्यादा जमाती ही हैं। दिल्ली में अब तक 28.33 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि 47 मरीजों की मौत हुई है। वहीं 1498 मरीज उपचाराधीन हैं। इनमें से 513 मरीज नौ अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। जिसमें से 27 मरीज आइसीयू में भर्ती रखे गए हैं। इनमें से पांच मरीज वेंटिलेटर पर हैं। इसके अलावा अस्थायी रूप से बनाए गए 10 कोविड केयर सेंटरों में 772 मरीज भर्ती किए गए हैं। वहीं चौधरी ब्रह्म प्रकाश आयुर्वेद अस्पताल में बनाए गए कोविड हेल्थ सेंटर में 31 मरीज भर्ती हैं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप