जागरण संवाददाता, दिल्ली/गाजियाबाद। दिल्ली एनसीआर में अपराधी नए नए तरीके इजाद करते रहते हैं। कोरोना संक्रमण के इस दौर में जब कोई किसी से मिलने को तैयार नहीं है तब अपराधी लोगों को धमकी देने के लिए नए तरीके का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है जिसमें शादी का कार्ड भेजकर कारोबारी को धमकी दी गई है। साथ ही गैंग ने उस कार्ड में अपनी निशानी भी छोड़ी है जिससे कारोबारी दहशत में आए और उनका मकसद पूरा हो सके।

गाजियाबाद के विजय नगर में रहता है कारोबारी

विजयनगर थाना क्षेत्र के प्रताप विहार निवासी कारोबारी पिता-पुत्र को जान से मारने की धमकी मिली है। यह धमकी भरा पत्र शादी के कार्ड में रखकर उनके घर के पते पर भेजा गया है। पत्र दिल्ली के गिरोह 786 द्वारा भेजा गया है। ने जान से मारने की धमकी दी है। गैंग के बदमाश ने शादी के कार्ड में धमकी भरा पत्र रखकर उनके बेटे के पास भेजा है। यह पत्र दिल्ली में मोटर पंप का कारोबार करने वाले हरकेश लूथरा को संबोधित किया गया है।

20 दिन में कारोबार समेटने की धमकी

इसमें धमकी दी गई है कि 20 दिन के भीतर दिल्ली से अपना कारोबार समेट लें, यदि ऐसा नहीं किया गया तो उनकी और उनके बेटे की हत्या कर दी जाएगी। इसके बाद से कारोबारी का परिवार दहशत में है और उन्होंने थाने में तहरीर देकर अपनी सुरक्षा की मांग की है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

दिल्ली के अजमेरी गेट में है कारोबार

विजयनगर प्रताप विहार स्थित ई-ब्लॉक निवासी हरकेश लूथरा का दिल्ली की अजमेरी गेट मार्केट में मोटरपंप का कारोबार है। उन्होंने बताया कि 30 अप्रैल को उनका बेटा बाजार से घर लौट रहा था, इस दौरान जब वह गली में घर के पास पहुंचा तो एक व्यक्ति ने उसे शादी का कार्ड दिया। बेटे ने परिचय पूछा तो व्यक्ति बिना कुछ बताए वहां से चला गया। कार्ड खोलकर देखा गया तो उसमें एक कागज निकला। इस कागज पर धमकी लिखी हुई थी कि उनकी व बेटे की हत्या कर दी जाएगी। इस मामले मे थाना प्रभारी महावीर ¨सह का कहना है कि कारोबारी की तरफ से तहरीर मिली है। मामले की जांच कराई जा रही है। शिकायत में कारोबारी ने किसी प्रकार की रंजिश से इन्कार किया है।

पत्र में लिखी गई धमकी

हरकेश लूथरा ने बताया है कि धमकी भरे पत्र में सबसे पहले उनका नाम और 786 गैंग दिल्ली लिखा गया है। पत्र में लिखा है कि मैं जावेद अंसारी सीलमपुर दिल्ली से बोल रहा हूं। यह काम धंधा बंद कर दिल्ली से गाजियाबाद चला जा हमेशा के लिए, क्योंकि तेरे साथी नहीं चाहते कि तू यहां काम करे। अगर तूने हमारा कहना नहीं माना तो हम तेरी हत्या कर देंगे। यह तेरे पर हमारा एहसान है कि तुझे हम प्यार से कह रहे हैं, क्योंकि हमारे रोजे चल रहे हैं।

इस दौरान हम किसी को मारना नहीं चाहते (जान है तो जहां है), जो लोग तेरे साथ काम करते हैं वो तुझे मरवाना चाहते हैं। तुझे भगाने के हमें आठ लाख रुपये मिलेंगे। जबकि तुझे मारने के 15 लाख रुपये मिलेंगे। अब तू सोच कि तुझे दिल्ली से भागना है कि मरना है। हम जो ठेका लेते हैं उसे पूरा करते हैं। तेरे पीछे फैमिली है। उसे देख और दिल्ली छोड़ दे। अगर तूने बात नहीं मानी तो 20 दिन के अंदर तुझे और तेरे लड़के को जान से मार देंगे। पत्र के अंत में खुदा हाफिज भी लिखा है।

शादी के कार्ड पर लिखा है औरेया का पता

पीड़ित कारोबारी का कहना है कि जिस कार्ड में धमकी भरा पत्र भेजा गया है वह चांदनी और हैदर खां की शादी का है। कार्ड पर आफताब खां निवासी मोहल्ला केसरवानी, कस्बा फफूंद जिला औरेया का पता लिखा है। शादी की तारीख 19 मई लिखी गई है। लेकिन आरोपित ने कार्ड के ऊपरी हिस्से पर शादी की तारीख पैन से बदलकर 21 अप्रैल कर रखी है। इस कार्ड पर लिखे किसी भी नाम के व्यक्ति से हरकेश परिचित नहीं हैं।