नई दिल्ली/नोएडा, जेएनएन। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की गौतमबुद्ध नगर यूनिट ने पूर्व विधायक भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित और पूर्व विधायक मुकेश शर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। दोनों को पार्टी में अनुशासनहीनता, पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने व लोकसभा चुनाव में कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार करने पर निकाला गया है।

यहां पर बता दें कि लोकसभा 2019 के चुनाव में फतेहपुर सीकरी से गुड्डू पंडित को पार्टी का उम्मीदवार बनाया गया था। आरोप है कि इस दौरान गुड्डू पंडित व उनके भाई मुकेश पंडित ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार किया। पार्टी विरोधी गतिविधियां करने पर कई बार चेतावनी भी दी गई। इसके बाद भी शिकायतें आती रहीं। इसी के चलते दोनों को पार्टी से निकाल दिया गया।

वहीं, इस बारे में गुड्डू पंडित ने कहा कि वह पहले ही पार्टी को छोड़ चुके हैं। पार्टी की ओर से ऐसी मांग की जा रही थी जिसे पूरा नहीं किया जा सकता है। वहीं, मुकेश पंडित ने कहा कि बसपा ब्राह्मण विरोधी है।

बुलंदशहर के बसपा जिलाध्यक्ष के अनुसार दोनों भाइयों की लगातार हाईकमान तक शिकायतें पहुंच रही थी। बसपा जिलाध्यक्ष कमल राजन ने बताया कि लोकसभा चुनाव से पहले गुड्डू पंडित को पार्टी में शामिल किया गया और फतेहपुर सीकरी से पार्टी ने उन्हें अपना उम्मीदवार बनाया। लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों भाई का आचरण पार्टी की नीतियों से अलग था और कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार करने की कई वीडियो भी वायरल हुई थी। इसके अलावा दोनों भाई पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे हैं। लगातार शिकायतें मिलने पर हाईकमान पर आदेश पर दोनों भाई की गोपनीय जांच कराई गई। जांच में दोनों भाई पर लगाए गए आरोप सही मिले। इसके बाद हाईकमान ने दोनों को पार्टी से निष्कासित करने का निर्देश जारी कर दिया। उधर, बसपा से हुए निष्कासन के बाद गुड्डू पंडित ने बताया कि बसपा सुप्रीमों के निर्णय से उन्हें खुशी है। उन्होंने खुद पर लगाए गए आरोपों को भी नकार दिया।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav