नई दिल्ली, एएनआइ। उत्तर-पूर्वी जिले में हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली में 9 मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए हैं। उद्योग भवन, पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय और जनपथ मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। डीएमआरसी के अनुसार, केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन पर इंटरचेंज की सुविधा बरकरार रहेगी। यानी लोग यहां से दूसरे रूट पर मेट्रो बदल सकते हैं। 

इससे पहले जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्कलेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। वेलकम मेट्रो स्टेशन के आगे मेट्रो नहीं जा रही है। दरअसल नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन और इसके विरोध में प्रदर्शन चल रहा है। कुछ जगहों पर दो गुटों में हिंसक झड़प भी हुई है। सुरक्षा कारणों से मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। बंद किए गए पांचों मेट्रो स्टेशन पर ट्रेनों नहीं रूक रही हैं।

मेट्रो स्टेशन बंद होने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शाम को ऑफिस से छुट्टी होने की वजह से मेट्रो में भीड़ काफी ज्यादा होती है। ऐसे में लोगों को दिक्कत हो रही है। 

जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशन रविवार को भी रहे बंद

हिंसक प्रदर्शन की वजह से जाफराबाद मेट्रो स्टेशन को रविवार सुबह ही बंद कर दिया गया था। दोपहर में मौजपुर-बाबरपुर स्टेशन को भी बंद कर दिया गया। इस लाइन पर कुछ देर मेट्रो बाधित रही।

यातायात पर भी पड़ा असर

प्रदर्शन के कारण सिग्नेचर ब्रिज (दोनों कैरिजवे) को भी बंद कर दिया गया है। वहीं खजूरी से भजनपुरा (दोनों कैरिजवे) तक वज़ीराबाद रोड पर यातायात प्रभावित हुआ है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। इसके अलावा हिंसाग्रस्त इलाको में भी यातायात प्रभावित है। पुलिस ने इन इलाकों में न जाने की सलाह दी है। 

दरअसल हिंसक प्रदर्शन की वजह से उत्तर-पूर्वी जिले के 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। पथराव में एसीपी और डीसीपी समेत कुल 11 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। चार अन्य लोग भी घायल हुए हैं। जिन्हें जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में यमुनापार में कई दिनों से चल रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन ने रविवार को हिंसा का रूप ले लिया। जाफराबाद रोड पर मौजपुर तिराहे के पास जमकर पथराव और फायरिंग हुई। करीब 4:30 बजे शुरू हुए पथराव में पांच पुलिसकर्मियों सहित 15 से अधिक लोग जख्मी हो गए। इसके बाद देर रात करावल नगर के शेरपुर चौक पर मामूली बात पर हिंसा हुई। यहां पथराव के साथ ही कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। हालात इस कदर अनियंत्रित हो गए कि पुलिस मौके पर पहुंचने के बावजूद बैकफुट पर आ गई और उसे वापस लौटना पड़ गया। जबकि पूर्वी रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने दोनों जगह स्थिति नियंत्रण में होने का दावा किया था।

ये भी पढ़ेंः  Delhi CAA Clash: मौजपुर में दो गुटों की हिंसा में हेड कांस्टेबल की मौत, DCP समेत 11 पुलिसकर्मी घायल

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस