नई दिल्ली, एजेंसी। Coronavirus: कोरोना संक्रमण से मरने वालों के अंतिम संस्कार में हो रही असुविधा के मद्देनजर अब वहां पर कार्यरत कर्मचारी व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (personal protective equipment) पहनेंगे। इस बाबत आदेश जारी कर दिया गया है। दिल्ली के तीन नगर निगमों एनडीएमसी, एसडीएमसी और ईडीएमसी - की स्थायी समितियों के प्रमुखों ने एक संयुक्त बयान में कहा है कि कोरोनो वायरस महामारी को देखते हुए श्मशान और दफन स्थलों पर व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिए गए हैं। 

उत्तरी दिल्ली नगर निगम समिति के मुखिया (NDMC panel chief Jai Prakash), दक्षिण दिल्ली नगर निगम स्थायी समिति के चेयरमेन भूपेंद्र गुप्ता (SDMC standing committee chairman Bhupender Gupta) और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के के मुखिया संदीप कपूर (SDMC head Sandeep Kapoor) ने बृहस्पतिवार को एक बैठक में यह फैसला लिया है।  इस आदेश दिया गया है कि श्मशान स्थल पर कार्यरत कर्मचारी पीपीई किट जरूर पहनें।

यहां पर बता दें कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के स्थायी समिति के अध्यक्ष जय प्रकाश ने बृहस्पतिवार को पूर्वी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष संदीप कपूर और भूपेंद्र गुप्ता के साथ बैठक में राख की जांच का फैसला लिया गया।

जय प्रकाश के मुताबिक, निगम अधिकारियों को दाह संस्कार के बाद राख से संक्रमण फैलता है या नहीं इसकी जांच कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसी के साथ अधिकारियों को लकड़ियों से दाह संस्कार करने के लिए अलग से ब्लॉक बनाने की संभावनाएं तलाशने के भी निर्देश दिए गए हैं। साथ ही श्मशान घाटों पर कार्यरत कर्मचारियों को पीपीई किट उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए गए हैं।

दिल्ली के इन घाटों पर ही है अंतिम संस्कार की अनुमति

दिल्ली में निगम बोध श्मशान घाट के साथ ही पीके रोड शमशान घाट, पंजाबी बाग और पूर्वी दिल्ली के कड़कड़डूमा रोड स्थित श्मशान घाट में ही कोरोना के संदिग्ध या कोरोना संक्रमित मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार की अनुमति है। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस