नई दिल्ली [संजय सलिल]। बजरंग दल के कार्यकर्ता रिंकू शर्मा हत्याकांड मामले में कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं। हमलावर रिंकू को परिवार समेत जिंदा जलाकर मारने की फिराक में था। उनकी इस खतरनाक साजिश का पता रिंकू की मां राधा के इस बयान से चलता है कि हमलावरों ने किचन में रखे गैस सिलेंडर को निकालकर आग लगाने की कोशिश की थी। बकौल राधा हमलावर घर में घुसने के बाद लाठी-डंडों से उनके बेटों पर वार शुरू कर दिया था। इतना नहीं उन्होंने किचन में रखे गैस सिलेंडर को भी निकाल लिया और उसमें आग लगाना चाहते थे, लेकिन उन्होंने अपने बेटों के साथ मिलकर हमलावरों के हाथों से सिलेंडर छीन लिया था।

रिंकू के भाई मन्नू के अनुसार हमलावर उनके पूरे परिवार को खात्मे की सुनियोजित साजिश के साथ बुधवार की देर रात उनके घर पर धावा बोला था। उनकी मंशा घर मे आग लगाकर सभी को मारने डालने की थी। ऐसा करके हमलावर कोई सबूत नहीं छोड़ना चाहते थे।

पीठ में धंसे चाकू को निकालकर ले जाना चाहते थे हमलावर

मन्नू के अनुसार रिंकू को चाकू मारने के बाद हमलावर कुछ देर के लिए वहां से चले गए थे। चाकू रिंकू की पीठ में ही धंसा रह गया था। इसके बाद जब उन्हें स्वजन पड़ोसियों की मदद से अस्पताल ले जाने लगे तो हमलावर दोबारा आकर रास्ता रोक लिया था और लाठी डंडे से वार करने लगे थे। वे चाहते थे कि रिंकू किसी भी सूरत में अस्पताल न पहुंचे। इतना ही नहीं वे रिंकू की पीठ में धंसे चाकू को भी निकाल कर अपने साथ ले जाना चाहते थे ताकि वारदात का कोई सबूत न रहे। जब वह रिंकू को आइसीयू की तरफ ले जा रहे थे तो हमलावरों ने उन्हें रोककर पीठ में धंसे चाकू को दोबारा निकालने की कोशिश की। इस दौरान एक हमलावर ने चाकू को पकड़ कर हिलाया भी था, लेकिन चाकू बाहर निकलने के बदले पीठ में और अंदर चला गया था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप