नई दिल्ली, जेएनएन। Pollution increase in Delhi and NCR: पिछले करीब दो महीने से अच्छी हवा में सांस ले रहे दिल्ली-NCR (National Capital Region) के करोड़ों लोगों के लिए बुरी खबर आ रही है। दरअसल, दिल्ली के अलावा गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और सोनीपत की हवा में अगले सप्ताह से प्रदूषण का स्तर धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हो जाएगा।

छिनने वाली है दिल्ली-NCR की राहत

लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश के चलते पिछले कुछ महीनों के दौरान दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदूषण का स्तर सामान्य रहा था, जो अब तक जारी है। पिछले दिनों यह खबर आई थी कि पड़ोसी राज्य हरियाणा और पंजाब में परानी जलाने का सिलसिल शुरू हो चुका है और आने वाले दिनों में जोर पकड़ेगा। जाहिर है कि हरियाणा और पंजाब में अगले कुछ दिनों में पराली जलाए जाने के बाद दिल्ली-एनसीआर का प्रभावित होना तय है। फिलहाल नमी भरी पूर्वी हवा चल रही है। इसकी वजह से फसल अवशेष का धुआं दिल्ली एनसीआर में नहीं पहुंच रहा है। अनुमान के मुताबिक, 7 अक्टूबर के बाद हवा की दिशा में बदलाव होगा, इसके बाद लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी।

 केंद्र सरकार द्वारा संचालित संस्था सफर इंडिया (System of Air Quality and Weather Forecasting) का अनुमान है कि अगले सप्ताह से वायु की गुणवत्ता में गिरावट आने लगेगी। वायु गुणवत्ता, मौसम पूर्वानुमान अनुसंधान प्रणाली (Weather forecasting research system) पराली जलाया जाना इसकी मुख्य वजह मान रहा है। वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) का कहना है कि उत्तर की ओर से चलने वाली हवा भी दिल्ली के मौसम पर असर डालने लगेगी। इससे दिल्ली का प्रदूषण बढ़ सकता है। इस महीने के अंत तक दिवाली है, ऐसे में पटाखों के जलाए जाने से भी प्रदूषण में भारी इजाफा हो सकता है। 

अगले सप्ताह से बिगड़ सकती है दिल्ली की हवा

सफर इंडिया के निदेशक गुफरान बेग बताते हैं कि उत्तर भारत में पराली का जलना शुरू हो चुका है, लेकिन फिलहाल पूर्व की तरफ से चल रही तेज हवा की वजह से इसका असर नहीं पड़ रहा। गुफरान बेग का कहना है कि यह हवा सात अक्टूबर के बाद अपना रुख बदल लेगी। ऐसे में इसके बाद हवा की गुणवत्ता खराब हो सकती है। 

प्रदूषण डाल रहा 90 फीसद लोगों पर असर

पिछले साल हुए एक अध्ययन में यह सामने आया था कि देश की राजधानी दिल्ली ही नहीं, बल्कि नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और सोनीपत खराब हुई वायु गुणवत्ता के चलते तकरीबन 90 फीसद लोग किसी न किसी बीमारी से पीड़ित हो जाते हैं या फिर बेचैनी महसूस करने लगते हैं। वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि इसके पीछे पटाखे फोड़े जाना एक बड़ी वजह है। यह भी सच है कि दिल्ली में प्रदूषण के चलते 60-70 फीसद बच्चों के फेफड़े खराब हो चुके हैं। इसके पीछे भी प्रदूषण एक बड़ी वजह है। 

 दिल्ली में लागू होगा ऑड-ईवन

दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी (aam aadmi party) पहले ही वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए कमर कस चुकी है। इसी के मद्देजर 4 नवंबर से 15 नवंबर के बीच ऑड-ईवन लागू करने का एलान भी कर दिया है।इसके साथ लोगों को मुफ्त में मास्क भी बांटे जाएंगे। प्रदूषण के लिहाज से बेहद गंभीर 12 स्थानों के लिए भी अलग से कार्ययोजना लागू की जा रही है। खासकर स्कूली 5 लाख स्कूलों बच्चों में मास्क बांटने की तैयारी है। 

16 टीमों ने शुरू की गश्त

 प्रदूषण से जंग में दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) की 16 टीमों ने औद्योगिक क्षेत्रों में रात्रि गश्त शुरू कर दिया है। टीमें रात के अंधेरे में औद्योगिक कचरा जलाने वालों पर नजर रख रही हैं। ऐसा करने वालों की मौके पर ही फोटो खींचकर उन पर जुर्माना लगाया जा रहा है। वहीं व्यक्ति यदि दोबारा ऐसा करते पकड़ा गया तो उस पर दोगुना जुर्माना लगाया जाएगा। 

जानिये- क्या होता है एयर क्वालिटी इंडेक्स

गौरतलब है कि 0-50 के बीच वायु गुणवत्ता स्तर (Air quality Index) को अच्छा माना जाता है। इसके बाद 51-100 के बीच के वायु गुणवत्ता स्तर को संतोषजनक, जबकि 101-200 के बीच को मध्यम श्रेणी का माना जाता है। इसी के साथ 201- 300 के बीच खराब और 301-400 के बीच बेहद खराब की श्रेणी में रखा जाता है। अंत में 401-500 के बीच एक्यूआई गंभीर माना जाता है। दिवाली के आसपास और फिर बाद में दिल्ली के साथ एनसीआर के इलाकों में गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम  में एयर क्वालिटी इंडेक्स सारे मानक तोड़कर 900 के पार तक पहुंच जाता है। ऐसे में हालात बेहद गंभीर हो जाते हैं।

क्या-क्या बरतें सावधानी

  • मास्क लगाएं
  • मॉर्निंग वॉक 5:30 के बाद नहीं करें
  • बुजुर्गों और बच्चों पर खास ध्यान दें
  • अस्थमा (Asthma) के मरीज खास सावधानी बरतें
  • उच्च रक्त चाप के मरीज चेकअप कराते रहें
  • शुगर मरीज भी खास सावधानी बरतें

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस