Move to Jagran APP

दिल्‍ली हिंसा में IB कांस्‍टेबल अंकित शर्मा की हत्‍या मामले में सलमान गिरफ्तार

दिल्‍ली दंगों के दौरान हिंसक भीड़ का शिकार हुए आइबी (IB) कांस्‍टबेल अंकित शर्मा की हत्‍या मामले में दिल्‍ली पुलिस ने सलमान नाम के शख्‍स को गिरफ्तार किया है।

By Prateek KumarEdited By: Published: Thu, 12 Mar 2020 03:27 PM (IST)Updated: Fri, 13 Mar 2020 07:25 AM (IST)
दिल्‍ली हिंसा में IB कांस्‍टेबल अंकित शर्मा की हत्‍या मामले में सलमान गिरफ्तार

नई दिल्‍ली, ऑनलाइन डेस्‍क। Ankit Sharma Murder case: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगों के दौरान आइबी के सिपाही अंकित शर्मा की हत्या करने के आरोप में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बृहस्पतिवार को सलमान उर्फ हसीन उर्फ मुल्ला उर्फ नन्हें को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस का दावा है कि अंकित की हत्या से पहले उन्हें निर्वस्त्र करके धर्म को पुख्ता किया गया था फिर चाकुओं से ताबड़तोड़ वार कर हत्या की गई। पांच मिनट के अंदर उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया था।

दंगाईयों ने अंकित के साथ दो अन्य हिंदू युवकों को पकड़ लिया था। दोनों किसी तरह उनके चंगुल से छुड़ाकर भागने में कामयाब हो गए थे। अंकित शर्मा के अकेले पकड़ा जाने से दंगाईयों ने बेरहमी से उनकी हत्या कर शव को पहले घसीटा था फिर डंडे से उठाकर शव को गंदे नाले में फेंकने की कोशिश की थी। डंडे से नहीं उठने पर कुछ लोगों ने मिलकर शव को लोहे के तार की जाली से ऊपर से शव को नाले में फेंक दिया था।

इस मामले में क्राइम ब्रांच आम आदमी पार्टी के निलंबित निगम पार्षद ताहिर हुसैन को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। उसे सात दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। शुक्रवार तक ताहिर के रिमांड की अवधि है। उसके बाद क्राइम ब्रांच ताहिर को दंगे के अन्य मामले में रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। इसके खिलाफ अंकित शर्मा की हत्या समेत तीन अन्य केस भी दर्ज है। सभी केसों में क्राइम ब्रांच इसे बारी-बारी से रिमांड लेगी। लिहाजा इसकी मुश्किलें अभी जल्द खत्म होने वाली नहीं है।

ताहिर से पूछताछ के बाद पुलिस उसे शरण देने वाले तीन आरोपित समेत दंगे में शामिल उसके भाई व दो अन्य को गिरफ्तार कर चुकी है। उसकी लाइसेंसी पिस्टल भी बरामद कर पुलिस उसे जांच के लिए फोरेंसिक साइंस लैब भेज चुकी है। ताहिर के साथ दंगे में गुलफाम नाम के दंगाई की पहचान हुई है। क्राइम ब्रांच व उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

ताहिर पर दर्ज है अंकित शर्मा की हत्‍या का मामला

ताहिर मुस्तफाबाद विधानसभा क्षेत्र से आप का पार्षद है। पार्टी ने उसे पहले ही निलंबित कर दिया है। अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी ने हुसैन के खिलाफ इंटेलीजेंस ब्यूरो (आइबी) के अधिकारी की हत्या का आपराधिक मुकदमा भी दर्ज किया है। हुसैन इस समय दिल्ली पुलिस की हिरासत में है।

रियासत पुलिस रिमांड पर

इधर, कड़कड़डूमा कोर्ट ने बुधवार को उत्तर-पूर्वी जिले में हुए दंगे के दो आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। आप से निष्कासित पार्षद ताहिर हुसैन के साथ हिंसा फैलाने के अरोपित रियासत अली और दिलबर नेगी के हत्यारोपित शाहनवाज को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले कोर्ट ने रियासत अली को पुलिस रिमांड पर भेजा था।

ताहिर हुसैन की घर से फेंके पेट्रोल बम

न्यायाधीश ऋचा परिहार की कोर्ट में पुलिस ने रियासत और शाहनवाज को पेश किया। पुलिस ने कोर्ट को बताया कि 24-25 फरवरी को चांद बाग इलाके में रियासत पार्षद ताहिर हुसैन के घर की छत पर था। उसने छत से पथराव किया था और पेट्रोल बम भी फेंके थे। पुलिस ने कोर्ट से कहा कि रियासत ने आइबी जवान अंकित शर्मा की हत्या में ताहिर हुसैन का साथ भी दिया था। पुलिस की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने रियासत और शाहनवाज को कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इससे पहले कोर्ट ने सोमवार को शाहनवाज की पुलिस रिमांड दो दिनों के लिए बढ़वाई थी। पुलिस ने कोर्ट को बताया कि शाहनवाज ने दंगों के दौरान बृजपुरी रोड पर एक मिठाई की दुकान पर काम करने वाले दिलबर नेगी के हाथ पैर काटकर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी थी।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.